कोलेज कलिग की मस्त चुदाई

कोलेज कलिग की मस्त चुदाई

हेलो दोस्तों मेरा नाम हिरल है मैं फ्रीलांसर हूं, मेरा मुंबई और पुणे आना जाना लगा रहता है. मैंने सिर्फ एक लड़की के साथ एंजॉय किया है पर यह मेरी पहली स्टोरी है जब भी टाइम मिलता है मैं देसी स्टोरी पर स्टोरी पढ़ता रहता हूं पर ज्यादा टाइम नहीं मिलता.

loading...

मैं दिखने में हैंडसम हूं लेकिन मेरी बॉडी एवरेज है. मेरा पेनिस का साइज उतना है जो एक लड़की को सैटिस्फाई कर सके, मुझे वर्जिन लड़कियां पसंद हैं जो पहली बार मजा करना चाहती है, मैं मसाज भी अच्छा कर लेता हूं.

अब मैं आपको ज्यादा दूर नहीं करुंगा, अब मैं अपनी कहानी शुरू करता हूं. मेरी एक कॉलेज फ्रेंड थी उसका नाम रेशमा था वैसे वह मेरे क्लास में ही थी लेकिन मैं एस वाय बी कॉम कॉलेज चेंज करके आया था तब वह भी नहीं आई हुई थी मेरे साथ मेरी कभी भी उसके साथ बात नहीं हुई थी. कुछ दिन ऐसे ही फॉर्मल हाय हेलो होता रहा. वैसे भी उसके ज्यादा फ्रेंड नहीं थे तो मैंने सोचा क्यों ना उसका फ्रेंड बन जाऊं? तो मैंने उसे फ्रेंडशिप करने की इच्छा जाहिर की और वह मान गई.

उसके बारे में बता दूं, वह बहुत ही क्यूट और डाउन टू अर्थ थी. वह सब कुछ जानती थी पर खुल कर कभी नहीं बात करती थी, उसका फिगर एकदम मस्त था, कोई भी लड़का दीवाना हो जाए ऐसा ३०-३२-३४ था.

मैं दोस्ती से ज्यादा करना चाहता था पर मैं मौके की तलाश में था.

loading...

हम अभी रोज साथ में खाना खाने लगे और सारे लेक्चर अटेंड करने लगे, अचानक कुछ दिन से वह कॉलेज नहीं आ रही थी तो मेरी बेचैनी एकदम से बढ़ गई, मैंने पता करने की कोशिश की पर कुछ कर नहीं पाया.

अचानक चार दिन बाद आई कॉलेज में, मैंने उसका हाल चाल पूछा तो उसने तबीयत ठीक नहीं थी बोल कर चली गई, मेरी उसकी तरफ की चिंता को उसने नजरअंदाज कर दिया, मुझे बहुत बुरा लगा.

फिर कॉलेज छूटते वक्त वह मेरे पास आई और मुझसे मेरे पिछले ४ दिन के नोट्स मांगे तो मैंने दिएपर मूड मेरा काफी उदास था, उसने मुझे अपना नंबर मांगा और कहा कि अगर कोई डिटेल्स समझ नहीं आई तो वह कॉल करेगी.

मैंने ओके कहकर उसका नंबर लिया और मिस कॉल किया, फिर हम अपने अपने घर चले गए.

loading...

घर पहुंचने के बाद भी मैं उसी के बारे में सोच रहा था, तो अचानक मन किया कि अब मेसेज  कर के पूछ लेता हूं क्या प्रॉब्लम थी तो शायद अकेले में खुल कर बता दे. मैंने उसको मैसेज किया तो कुछ देर तक रिप्लाई नहीं आया फिर अचानक से रिप्लाई आया हाय, मैंने पूछा कैसी है तबीयत तुम्हारी? उसने कहा ठीक है. फिर कोई रिप्लाई नहीं आया.

मैंने दुबारा मैसेज किया और पूछा नाराज हो क्या मुझसे? मैंने मैसेज किया इसलिए उसने बोला नहीं. तो मैंने उसे बताया कि मैं कितना कंसर्न था उसके लिए जब वह कोलेज नहीं आई थी और जब आई तो मिलकर पूछना चाहता था तुमसे पर तुमने ज्यादा बात नहीं की और मेरी बातों को नजरअंदाज कर दिया.

उसने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं थी पर वह मुझसे कॉलेज में ज्यादा बात नहीं करना चाहती थी, ताकि बाकी को कुछ बोलने का मौका मिले.

फिर मैं समझ गया कि उसने मुझे अकेले में बात करने का मन था इसलिए नंबर मांगा था बहाना करके.

मैंने उससे पूछा कि क्या मैं रोज रात में व्हाट्सअप पर बात कर सकता हूं? उसे कोई प्रॉब्लम तो नहीं? तो उसने हम्म करके रिप्लाई दिया.

मैं समझ गया वह भी वही चाहती है.. अब मैं समझ गया कि वह मुझे अपना अच्छा फ्रेंड एक्सेप्ट कर चुकी है और मुझ पर ट्रस्ट करने लगी है.

मैं अब से उसकी और हेल्प करने लगा और ज्यादा से ज्यादा टाइम स्पेंट कर के सब शेयर करने लगा, वह भी मुझे सब शेयर करने लगी.

हम रोज कंटिन्यू रात भर बात करने लगे, इधर उधर की, बचपन की.

एक दिन मैंने हिम्मत कर के उसे एक नॉनवेज जोक शेयर किया, यह सोच कर कि उस का क्या रिएक्शन होगा? अगर वह मना करेगी तो आगेसे नहीं भेजूंगा.

मैंने लेट नाइट उसको नॉनवेज जोक भेजा उसका कोई रिप्लाई नहीं आया, मुझे लगा नाराज हो गई, मैंने काफी मैसेज किया पर उसने कभी रिप्लाई नहीं दिया.

loading...

मेने कॉल किया तो कॉल डिस्कनेक्ट हो रहा था.. मैंने सॉरी लिख कर मैसेज किया कि गलती से चला गया, फिर भी कोई रिप्लाई नहीं आया, मैंने खुद ही अपने पैर पर कुल्हाड़ी मार दी थी.

मैंने मनाने की बहुत कोशिश की पर कोई रिप्लाई नहीं आया. फिर २ दिन बाद उसका मैसेज आया कि सॉरी मेरे भैया हॉस्टल से आए थे और वह दो दिन मेरे साथ ही थे इसलिए ना मैं बात कर पाई किसी से और ना ही कॉलेज आ पाई.. प्लीज माफ कर दो, मैं तुमसे नाराज नहीं हूं, रात में बात करती हूं..

रात को उसका मैसेज आया हाय, सॉरी, मैं तुमको बताना चाहती थी पर सिचुएशन नहीं था बताने लायक, भाई मेरे पास ही था.

मुझे नॉनवेज जोक अच्छा लगा तुम्हारा, पसंद आया और है तो भेजो प्लीज, मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं.

जब ग्रीन सिग्नल मिला तो मैंने पूछा अच्छा लगा तो पिक और वीडियो भेजू नॉनवेज जोक के साथ?

वह शरमा गई और रिप्लाई नहीं किया, मैं समझ गया कि वह चाहती है फिर मैंने न्यूड पिक्स और कुछ वीडियो भेजे और कहा की फिर देख कर मुझे बताना कैसे लगे? फिर आगे बात करूंगा.

 

अगले दिन रात में मैसेज आया की उसका पिक्स और वीडियो मस्त है, फिर मैंने पूछ लिया कि तुम को यह सब पसंद है? कुछ देर तक रिप्लाई नहीं आया, फिर एक स्माइली भेजा और ह्म्म्म लिखा तो मैं समझ गया.

फिर रात भर मैंने सिर्फ सेक्स की बातें की तो वह तुरंत रिप्लाई देने लगी, मैं समझ गया कि उसको इसमें इंटरेस्ट हे, मैंने पूछा उसका कोई बॉयफ्रेंड है तो उसने नहीं कहा और कहा कि वह अभी तक वर्जिन है.

मैंने भी उसे बताया कि अभी मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

loading...

अब रोज हम सेक्स की बातें करने लगे और एक दूसरे को पिक्स और वीडियोज भेजने लगे.

मेरा मन तो कर रहा था कि उसके साथ ही सेक्स करू और उसको रियल टाइम प्लेजर दू पर मौके की तलाश में था.

आख़िर में एक दिन मैंने उसे प्रपोज किया, कॉलेज के छूटने के बाद और कहा कि मैं उसे अपनी गर्लफ्रेंड बनाना चाहता हूं और उसे खुश करना चाहता हूं.

वह समझ गई कि मैं उसे चोदना चाहता हूं उसने उस समय कोई रिप्लाई नहीं दिया और वहां से चली गई बिना कुछ बोले, मैंने काफी कॉल की एक और मैसेज किए पर कोई रिप्लाई नहीं आया.

रात में मैसेज आया की ओके, कल मेरे घर आ जाओ, हम कल शादी में जा रहे हैं. मैं घर का एड्रेस मैसेज कर देती हूं, अपनी कॉलेज की बुक्स लेकर आना और सामान साथ में रखना.

कल तुम्हें अपना जवाब दूंगी, मैं समझ गया कि वह रेडी है और चाहती हो कि मैं सामने से जाकर करूं.

 

बस जो मौका ढूंढ रहा था आखिर वह आही गया, सुबह में जल्दी उठकर तैयार हो गया और घर से निकला तो बोल कर निकला कि आज आने में लेट होगा कुछ नोट्स लेना है फ्रेंड के घर से.

में खुशी से फूले नहीं समा रहा था, जल्दी से मेडिकल स्टोर से दो-तिन कंडोम पैकेट लिए और निकल पड़ा.

अब मैं रेश्मा के घर पहुंचा और बेल बेल बजाई तो आंटी को देखा तो शौक हो गया और घबरा गया कि अब क्या होगा? रेशमा अपनी और एक फ्रेंड के साथ हुई थी और मुझे देखकर अंदर आने को कहा. और पूछा कॉलेज की नोट्स लाई कि नहीं मैंने हा कहा.

आंटी और अंकल को हाय बोल कर अंदर चला गया, एक्चुअली उसने घर पर फोन किया था तो सब नॉर्मल था, रेशमा और प्रिया नोट्स कॉपी करने लगे मेरे बुक से और अंकल आंटी हमें बाय बोलकर शादी के लिए निकल पड़े.

मैं बहुत उदास होकर बैठ गया की जो मैंने सोचा था आज रेशमा की चुदाई करने का वह सब खत्म हो गया, कुछ देर बाद कोई प्रिया के नोट्स खत्म हो गए एक और मेरे साथ बातें करने लगी, उसी समय उसके घर से कॉल आया और उसे कुछ जरुरी काम से जाना पड़ा और कह कर गई की वह २-३  घंटे में आ जाएगी, फिर प्रिया चली गई.

बस आखिरकार भगवान ने मेरी सुन ली और मुझे रेशमा को चोदने का मौका मिल गया. जैसे ही प्रिया गई मैं तुरंत उठ कर दरवाजा बंद किया बलोक लगाया अंदर से और रेशमा पर टूट पड़ा.

उसको तुरंत अपनी बाहों में जकड़ लिया और लिप लॉक करके चूसने लगा, उसकी सांस फूलने लगी क्योंकि वह सांस नहीं ले पा रही थी.

तब मैंने उसे एक मिनट के लिए छोड़ दिया था कि वह नॉर्मल हो जाए और फिर दुबारा उसको टाइट हग करके चूसने लगा, क्या होठ थे यार.. मजा आ गया, गुलाबी और नरम और क्या मजा आ रहा था..

उसको किस करना चालू कर दिया और वह भी मेरा साथ देने लगी. मैं पूरी तरह पागल हो चुका था, लगातार उसको किस किये जा रहा था. फिर उसने मुझे बेड में धक्का दिया और मेरे ऊपर आकर बैठ गई और किस करना स्टार्ट कर दिया और हमने एक दूसरे के कपड़े उतार दिए. वह मेरे सामने ब्रा और पेंटी में थी. उसकी बॉडी को देख कर ऐसा लग रहा था की बस खा जाऊ.

मैंने उसकी ब्रा खोली उसके बूब्स पूरी तरह से आजाद थे, में उसके बूब्स को सक किए जा रहा था और उसकी चूत में उंगली डाल रहा था और वह यस यस कर रही थी. फिर मैं थोड़ी आगे बढ़ा और उसकी पैंटी उतार दी, उसकी पैंटी गीली हो चुकी थी उसकी चूत में एक भी बाल नहीं था, मैं देखकर पागल हो गया और उसकी चूत में अपनी जीभ लगाकर चाटने लगा.

वह मना करने लगी बोली गंदी जगह है, मैंने बोला जानेमन इस में ही तो मजा है, में उसकी चूत को जोर जोर से चाटने लगा. वह आहे भरने लगी, हां बेबी बहुत मजा आ रहा है, ऐसे ही करते रहो. अचानक उसको पूरा बदन टाइट हो गया और उसने अपनी चूत से पानी छोड़ा जो पूरा मेरे मुंह में आ गया, फिर उसके सामने मैंने अपना लंड लेकर टिका दिया, उसको सक करने को बोला लेकिन उसने मना किया, मैंने मनाने के बाद उसने थोड़ा सक किया.

फिर उसको चोदना शुरू किया मैं उसकी चूत के पास गया और कंडोम निकालकर अपने लंड में लगा लिया, और उसकी चूत में अपना लंड रख दिया फिर ज़टका देते  ही उसकी चीख निकल गई, प्लीज बाहर निकालो, प्लीज करने लगी. लेकिन मैंने उसके लिप्स में अपने लिप्स लगा दीए.

जब दर्द कुछ कम हुआ तो मैंने फिर झटका दिया इस बार पूरा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ अंदर घुस गया, फिर मैं अपना लंड अंदर बाहर करने लगा, वह आवाज निकालने लगी आह ओ अहह आह्ह ओह अह्ह्ह जानू और जोर से फाड़ दो मेरी चूत.

मैं उसके लगातार चोदे जा रहा था पूरी बॉडी पसीने से भर गई थी, दो मिनट बाद पोजीशन चेंज कि मैंने उसको कुतिया स्टाइल में चोदना चालू किया, अचानक वह और तेज चिल्लाने लगी. आ बेबी कम ऑन चोदो और चोदो. वह लगातार तीन टाइम पानी छोड़ चुकी थी, लगभग १० मिनट तक चोदने के बाद मेरा पानी निकलने वाला था मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और कुछ ही देर में मैंने अपने लंड से पूरा क्रीम निकाल दिया, और उसके ऊपर ही लेट गया. उस दिन उस को चोदकर बहुत मजा आया. हम दोनों बुरी तरह थक चुके थे. हम पुरी तरह नंगे बिस्तर पर लेटे हुए थे. आधा घंटे बाद मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा.

मैंने फिर से अपना मूड बनाया और उस को किस करने लगा. वह भी साथ देने लगी. मैंने कहा इस बार में तेरी गांड में अपना लंड डालूंगा, उसने सिंपल हां कर दी फिर मैंने उसको जमीन में लिटाया और उसकी गांड में तेल लगाकर मसलने लगा. और अपने लंड को पकड़कर उसकी गांड के छेद में डाल कर उसे धक्का दिया, वह चिल्लाने लगी, गांडू बाहर निकाल अपना लंड, मैंने कहा चुप रंडी आज तेरी जवानी का पूरा मजा लेना है, और एक झटके से पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया, उसको बहुत दर्द हो रहा था और खून भी निकल गया था, लेकिन मैं उसको लगातार चोदने लगा और वह चिल्लाती रही. उसको गांड में इतने धक्के मारे की वह जिंदगी भर याद रखेगी. मेरे लंड ने पूरी ताकत उसकी गांड में लगा दी थी.

मेरी एक उंगली उसकी चूत में थी, वह चोदो चोदो मुझे मेरी गांड फाड़ दे कर रही थी उसको भी बहुत मजा आ रहा था, मेरा लंड भी पानी छोड़ने वाला था, इस बार मैंने अपना पूरा पानी उसकी बॉडी में छोड़ दिया और उसको इस बात पर मुझे एक थप्पड़ भी मारा, लेकिन मैंने उसको फिर किस किया और उसके बाजू में जाकर लेट गया.

फिर मैं और वह फ्रेश हो गए क्योंकि प्रिया का मैसेज आया कि वह १५  मिनट में आ रही है, फिर हम दोबारा साथ बैठ कर नोट्स लिखने लगे और शाम को मैं अपने नोट्स लेकर पर चला गया, अंकल आंटी के आने के बाद मैं और प्रिया वहां से निकल गए.

loading...