ग्रुप सेक्स का मजा ही कुच ओर ही होता हे

ग्रुप सेक्स का मजा ही कुच ओर ही होता हे

हेल्लो दोस्तों, मैं सनी बड़ोदरा से गुजरात से हूं. मेरी उम्र २० साल है. मुझे पोर्न देखने में खूब मजा आता है और मैं रोज पोर्न देख कर मुठ मारता हूं. सेक्स स्टोरीज पढना भी मुझे अच्छा लगता है ज्यादातर में रिश्तो वाली स्टोरी भी ज्यादा पढ़ता हूं.

loading...

 

यह हिंदी स्टोरी मेरी मां की हे जो की टीचर हे स्कूल में, उनका नाम निता है और वो ४२ साल की है. वह दिखने में इतनी खूबसूरत नहीं है फिर भी औरत तो हे यही काफी है. उनका फिगर ३४-२८-३६ है. आप अंदाजा लगा सकते हैं फिगर कैसा होगा.

 

वह हमेशा साड़ी पहनती है क्योंकि हम गुजराती है. मेरे डेड का ट्रांसफर हो गया है दिल्ली इसलिए अब वह वहा रहते हैं. घर में अब हम तिन लोग हे मैं, मेरी मां और मेरी सिस्टर.

 

आपने मेरी पहली ३ स्टोरी पढ़ी होगी. अंकल ने मोम की चुदाई की स्कूल में और उसका पार्ट २ और ३, अगर नहीं पढी तो रोज प्लीज़ पढ़िए आपको पसंद आएगी, तो अब हम स्टोरी पर आते है. यह स्टोरी उन तिन स्टोरी का पार्ट नहीं है. यह कहानी मेरी मां चुदक्कड बन गई उसके बाद की घटना है जो मैं आपको बताने जा रहा हूं.

 

यह स्टोरी तब की है जब मोम स्कूल के प्रिंसिपल के फ्लैट पर पार्टी में गई थी. मोम ने मुझे बोला कि मुझे पार्टी में जाना है रात को आने में देर हो जाएगी, तुम मेरा वेट मत करना मुझे पार्टी तक छोड़ दो.

loading...

 

मम्मी ने ब्लेक कलर की साड़ी पहनी थी नेट वाली थी और पिंक कलर के ब्लाउज में मोम बहुत खूबसूरत लग रही थी, बाल खुले थे और नेट वाली साड़ी की वजह से मोम की पीठ, नाभि, कमर सब साफ दिख रहा था जो कि काफी कामुक लग रहा था. मुझे शक हो गया था कि मम्मी शायद आज चुदवायेगी क्योंकि वह काफी खुश लग रही थी.

 

मोम ने मुझे बोला कि मुझे पार्टी तक छोड़ दो और मैंने उनको अपनी बाइक पर छोड़ने गया. मोम ने बोला मुझे यहां पार्किंग में ही छोड़ दो, फ्लैट में पार्टी हे मैंने बोला ठीक हे.

 

मैंने देखा की बिल्डिंग काफी पुरानी थी वॉचमैन भी नहीं था. मैंने सोचा चलो मॉम का पीछा करते हैं कौन से फ्लेट में जा रही. तो में बाइक पार्क कर के मोम के पीछे चला गया. मोम सीढिया चढ़ रही थी. मैं भी उनके पीछे उनको पता नहीं चले इसी तरह पीछा कर रहा था.

 

मोम पांचवे फ्लोर पर एक प्लेट में गई. मैंने देखा की फ्लेट अंडर कंस्ट्रक्शन था इसीलिए फ्लैट का दरवाजा भी नहीं था और वह बिल्डिंग में शायद कोई ज्यादा रहता भी नहीं था क्योंकि सारे फ्लैट बंद ही पड़े थे.

 

अब मे दरवाजा ना होने की वजह से अंदर चला गया तो अंदर मैंने देखा कि एक सोफा रखा था, एक एलसीडी लगा हुआ था, और मोम सीधे अंदर चली गई. फिर रुम  में से प्रिंसिपल जोकी ५५ से ६० साल का बुड्ढा था वह मोम की कमर में हाथ डालकर बाहर निकला. मैं फटाफट जाके बालकनी में छिप गया और सब देखने लगा. मोम और प्रिंसिपल सोफे पर बैठे थे, और वह मोम के कंधे पर हाथ रख कर बैठा था.

loading...

 

इतने में रूम से और तीन आदमी निकले जो कि ६० साल से ज्यादा साल के बूढ़े ही थे और उनके साथ एक और औरत थी जोकि प्रिंसिपल की वाइफ थी. क्योंकि वह तीनों बुड्ढे प्रिंसिपल को बोल रहे थे की भाभी गर्म हो रही है जल्दी कर. उनकी वाइफ का नाम जमना था, थोड़ी मोटी थी और ५० साल से ज्यादा लग रही थी. उसने भी साड़ी पहनी हुई थी.

 

अब मॉम जमना से मिली, मोम से बात की और फिर सब अंदर के कमरे में चले गए और होल की लाइट ऑफ कर दी.

 

मे रुम की तरफ जाने लगा और मैंने देखा की रूम की दीवार के बाजु में एक बड़ा सा होल था जोकि काफी बड़ा था, पता नहीं क्यों था लेकिन मेरे लिए यह बड़ा काम का निकला. मैंने अंदर देखा तो अंदर नीचे जमीन पर गद्दे बीछाए हुए थे और उसपे मोम बैठी थी. बाजू में प्रिंसिपल था जो की मोम को पकड़कर किस कर रहा था.

 

और दूसरा बुढा मोम की साड़ी निकाल रहा था, उधर जमना पर भी वह दो बुढ्ढे टूट पड़े थे. वह भी जमना को किस कर रहे थे बारी बारी और उसकी साड़ी निकाल रहे थे. देखते ही देखते मोम और जमना दोनों पूरी नंगी हो गई, और सभी बुढो ने भी अपने कपड़े निकाल दिये और अपने अपने लंड सहलाने लगे.

 

फिर वह सब मोम और जमना के पास आकर खड़े हो गये और दोनों के मुह पे लंड  लगा दिया तो मोम और जमना  भी दोनों के लंड को पकड़कर हिलाने लगी.

loading...

 

और फिर धीरे धीरे जीभ से चाटने लगी, सभी बुढो के लंड ६ से ७ इंच के थे, सबके लंड चमक रहा था क्योंकि लंड चाटने की वजह से. मोम धीरे धीरे पूरा लंड मुंह में लेने लगी. उधर जमना भी  लंड मुंह में ले रही थी. बारी बारी सब ने मोम और जमना को लंड मुंह में दीया. बुढो के मुह से आहा ह अहह ह ओः हौयु आम्म ओह अहह औउ आवाज आ रही थी.

 

अब बुढो ने मोम  को खड़ा कर दिया और कमर से झुकाया एक तरफ, मोम के मुंह में एक बुड्ढे ने लंड डाला और प्रिंसिपल ने मां की चूत में पीछे से लंड डाल दिया. लंड काफी आसानी से अंदर चला गया और वह पीछे से मॉम की कमर पकड़ कर धक्के मारने लगा. मोम के बूब्स हवा में झूल रहे थे. मां के मुंह में लंड होने की वजह से वह कुछ भी बोल नहीं पा रही थी, सिर्फ मोन कर रही थी.

यह सब देख कर एक और बूढ़ा आया और मोम के नीचे जाकर मोम के बूब्स दबा दबा कर चूसने लगा. इस तरह तीन लोग लगे थे मोम पर और उस तरफ जमना जो की प्रिंसिपल की वाइफ थी उसे एक बुड्ढे ने अपने नीचे लिटा कर उसके ऊपर चढ़ा हुआ था और जमुना के पैरों के बीच में बैठ कर उसकी चूत बजा रहा था. जमना भी मजे ले रही थी थी और जोर जोर से चिल्ला रही थी.

मॉम की गांड भी प्रिंसिपल के धक्के की वजह से लाल हो गई थी क्योंकि उस पर भी ठप ठप गांड पर चाटे पड रहे थे. अब प्रिंसीपल जडने वाला था, उसने मोम की चूत में ही जोर जोर से हांफते हुए अपना वीर्य निकाल दिया और लंड वैसे ही रख कर थोड़ी देर खड़ा रहा.

फिर उधर जमना को जो चोद रहा था वह भी उसके अंदर जड गया और वह भी खड़ा हो गया और मैंने देखा कि प्रिंसिपल और उसकी वाइफ कपड़े पहनने लगे तो मुझे लगा कि शायद अब बाहर आएंगे तो मैं जट से बालकनी में चला गया और देखा तो वह बुढा प्रिंसिपल और उसकी वाइफ रेडी होकर बहार आए और चले गए वहां से.

फिर से मे कमरे के बाहर चला गया तो मुझे आवाज़ सुनाई देने लगी आह ही अहह औउ ओह अहह हो अहह अम्न्म जैसी मोम की आवाज सुनाई दी तो मैं फिर से देखने लगा तो देखा कि वह जो बूढा अब तक मौम के मुंह में दे रहा था.

वह अब मोम को सीधा लिटाकर उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रखकर उनकी चूत  में दनादन लंड डाल रहा था, और वह जो मोम के बूब्स चूस रहा था वह मोम के बूब्स पर चढ़ कर मोम के मुंह में अपना लंड डाल रहा था.

वह मोम को लगातार चोद रहे थे वह मोम की चूत से लंड निकाल कर फिर से मोम के मुंह के पास आ गया और वह दूसरा बुढा मोम को उसी पोजीशन में चोदने लगा और वह मोम को मुंह में लंड डालने लगा. मोम की चुदाई की ठप ठप आवाज आ रही थी.

वह बुढा जो मोम को मुह में दे रहा था मोम के मुंह में ही झड़ गया और मोम को सारा वीर्य पीना पड़ा. फिर कपड़े पहनने लगा तो मैं फिर से बालकनी में चला गया और वह  जैसे ही वहां से गया मैं फिर से अपनी पोजीशन मे रुम के बाहर चला गया.

तो मैंने देखा कि मॉम घोड़ी बनी थी और जोर से चिल्ला रही थी और वह बुढा मोम के पीछे से अपना लंड मोम की गांड के छेद में डालने की कोशिश कर रहा था. लंड का थोड़ा सा सुपाडा मोम की गांड के छेद में गया और मां की आंख से आंसू निकल गए. प्लीज मत करो मैं मर जाऊंगी, प्लीज़ मेरी चूत मारो मेरी पर गांड नहीं. पर वो ठरकी बूढ़ा मान नहीं रहा था.

वह मोम पर पूरा झुक गया और मोम के दोनों बूब्स पकड़ कर जोर से झटका मारा, मोम चीखी आह ओह अह हौयु हो अहह हो अह्ह्ह  बुढा मोम की गांड में लंड आगे पीछे करने लगा.

फिर अचानक वह मोम के ऊपर हांफता हुआ झुक कर पड़ गया लगता था की वह जड गया था. वीर्य मां की गांड में डाल दिया था. फिर उसने अपना लंड निकाला तो उस पर थोड़ा खुन लगा था. मोम वहा उल्टी लेटी रही और वह बुढा कपड़े पहन कर वहां से चला गया. मैं भी उसके आने से पहले बालकनी में चला गया और उसके जाने के बाद वहां से चला गया और मोम की कॉल का इंतजार करने लगा.

फिर करीब २ घंटे बाद मोम का कॉल आया तो मैं वहां उन्हें लेने चला गया, तो मैंने देखा कि मोम ठीक से चल नहीं पा रही थी, लड़खड़ाकर चल रही थी, फिर मेने मोम को बाइक पर घर ले कर चला गया. रात के २ बजे थे और मोम उसी साडी में जाकर सो गयी.

loading...