भाभी की चूत और गांड की चुदाई

भाभी की चूत और गांड की चुदाई

नमस्ते दोस्तों मेरा नाम किटू है और में २१ साल का हु. मेरी बॉडी एथलेटिक है और हाइट ६ फुट है, मेरा छोटा भाई जोकी कहानी का हीरो है उस वह ६.५ इंच लंबा और ३ इंच मोटा है, और मेरा स्टेमिना भी बहुत अच्छा है.

loading...

यह मेरी सेकंड चुदाई स्टोरी है इस पर कुछ मिस्टेक हो तो माफ करना और मैं इस साईट का करीब ६ साल से फेन हूं.

 

मैं दिन में ५ से ६ घंटे तक चुदाई कर सकता हूं और मुझे और कोई भी काम नहीं हे, क्योंकि मैं एक बेकार आदमी हूं और एक नौकरी की तलाश कर रहा हूं.

कोई भी लड़की, आंटी भाभी या विधवा और हाउसवाइफ अगर सेक्स की जरूरत हो तो वह मुझे कांटेक्ट कर सकती है.

loading...

अब बोर ना करते हुए मैं स्टोरी पर आता हूं, यह स्टोरी मेरी और सुमन भाभी की है.

वह दिखने में एकदम पटाखा जैसे ज्यादा फेट भी नहीं और ज्यादा स्लिम भी नहीं. उसे देख के किसी भी आदमी का लंड खड़ा हो जाता हे. वह हमारे गांव की बहुत ही सुंदर औरत थी.

सुमन २३ साल की है उसकी फिगर ३६-२८-३८ है, और बहुत ही सुंदर है. उसका और मेरा घर बाजू में है. उसकी शादी ४ साल पहले गोविंद से हुई है, वह टेलर है, वह मेरे बचपन से अच्छा दोस्त है, लेकिन सुमन को अभी तक कोई बच्चा नहीं है.

उसका पति बहुत बेवकूफ है साला दररोज दारु पी कर उसे बहुत छोटी छोटी बातों पर मारता है, वह हमारे पड़ोसी होने से मैं हमेशा जा के लड़ाई रोकता था, मैं सुमन से बहुत प्यार करता था.

loading...

 

मुझे हमेशा लगता था साला सुमन मुझे शादी से पहले क्यों नहीं मिली अगर मिलती तो जरूर उससे शादी कर लेता, और मुझे सुमन के तक़दीर का बहुत बुरा लगता सच में अगर कोई मेरी बीवी होती तो मैं उसे इसी तरह रखता लेकिन गोविंद तो उसे मार मार कर लाल करता है|

 

मैंने सुमन को पहली बार देखा तब से मैं उस पर फिदा हो गया उसे चोदने के सपने देखने लगा और दो तीन दिन में एक बार उसे सोचकर मुठ मारता था मैं सुमन के बूब्स देखने के लिए हमने घर बाजू में एक कुंवा है वहां वह कपड़े धोने आती है उसके साइड में पेड़ पर मोबाइल लेकर बैठ जाता था.

हमारे गांव में नेटवर्क ठीक से नहीं होता है लेकिन उस पेड़ के पास थोड़ा अच्छा नेटवर्क आता है इसलिए मुझे मुझ पर कोई शक भी नहीं करता, मैं उसे घुर घुर के देखता रहता था.

 

वह जब कपड़े धोती थी तब उसके फोटोस निकाल लेता और उसके वहां से जाने के बाद में मेरे रूम में जाकर फोटो देखकर मुठ मारता था, मुझे उसकी गांड बहुत पसंद है उनको पता था कि मैं उसे देखता रहता हूं और वह मुझे कुछ नहीं कहती. एक दिन शाम में गोविंद ने सुमन को बहुत मारा तब में दूसरे गाव कुछ काम से गया था. तब गोविंद को रोकने कोई भी नहीं गाया और सब चुप चाप तमाशा देखते रहे.

 

अगले दिन मैं घर आया. मैं जब मेरी रोमांटिक स्टोरी पढ़ रहा था तब रोने की आवाज आई मैं देखा तो सुमन रो रही थी. मैं उसके घर गया तब गांव के सब लोग खेत में अपने अपने काम से गए हुए थे.

 

loading...

मैंने कहा भाभी क्या हुआ? क्यों रो रही हो आप?

सुमन मेरी आवाज सुनते ही वह मेरे पास आई मुझे बाहों में भर लिया और कहने लगी गोविंद कल मुझे पूरे गांव के सामने बहुत पीटा सिर्फ इसलिए कि मैं सब्जी में नमक बराबर नहीं डाली और रोने लगी मैंने उसे पकड़ कर बेड पर बैठाया.

 

मैंने कहा शांत होने को कहा और कहा की में गोविंद को में शाम को समझा दूंगा.

सुमन ने कहा तुम जिससे भी शादी करोगे वह लड़की बहुत खुश नसीब वाली होगी.

 

मैने कहा क्यों भाभी मुझ में ऐसा क्या है?

भाभी ने कहा तुम बहुत ही ध्यान रखते हो और इसे इंसान हो की कभी गुस्सा भी नहीं होते हो फिर मजबूत बोडी वाले भी हो.

 

मुझे फिर फिल होने लगा की वह मुझे से चुदवाना चाहती है. उसने कहा देवर जी मुझे पता है आप मुझे बहुत चाहते हैं, सच बताओ.

loading...

मैंने कहा : मैंने पहली बार जब देखा तब से मैं तुम्हारा दीवाना हो गया हूं.

 

सुमन ने कहा : फिर मुझे क्यों नहीं बताया?

मैंने कहा : मैं नहीं चाहता था कि मेरे बेस्ट फ्रेंड के साथ कोई  धोखा हो.

 

सुमन ने कहा : लेकिन मैं भी तो अपने लोगों के लिए तरस रही हूं?

मैंने कहा कि आप को गोविंद लव नहीं करता?|

 

सुमन ने कहा गोविंद किसी और को चाहता है वह उससे शादी करना चाहता है, वह मुझे डाइवोर्स के लिए हर छोटी छोटी बात पर मारता है, लेकिन मुझे डाइवोर्स नहीं चाहिए चाहे वह दूसरी शादी कर ले क्योंकि मेरे मां बाप बहुत गरीब है वह मर जाएंगे.

मैंने कहा आप डरो मत भाभी मैं हूं ना मैं ईस के बारे में बात करूंगा.

 

भाभी ने कहा थैंक्यू कहा और मुझे आई लव यू कहा और गले लगा लिया. मेरी बॉडी में करंट लगा और उसके बूब्स मेरे चेस्ट पर चुभ रहे थे.

 

मैं ऐसे ही ग्रीन सिग्नल समझ कर उसे कस के पकड़ लिया और हाथ पेट पर घुमाने लगा और गर्दन पर किस करने लगा. और रुम में एकदम पिन ड्राप सायलेंस था.

 

फिर हम अलग हुए और लंबी स्मूच के बाद में उसके कपड़े निकलने लगा. पहले ब्लाउज निकाला और बूब्स हाथों से दबाने लगा और फिर एक बूब्स चूसने लगा और एक को दूसरे हाथ दबाने लगा. वह मस्त मजे ले रही थी और आवाज निकाल के मेरा साथ दे रही थी. कह रही थी कि तुम चुसो और जोर से चुसो अपनी रंडी समझकर चूसो.

 

फिर कुछ देर बाद में उसकी साड़ी उतारी फिर लहंगा और पैंटी उतार दी. अब वह बिल्कुल नंगी मेरे सामने थी और मैं खुद भी नंगा हुआ और उसे उठा कर बेड पर लेटाया और उस पर टूट पड़ा. अब मैं चूमते हुए उसकी नाभि तक गया अपनी जुबान से लिक करने लगा, उसकी चूत में उंगली डाली और आगे पीछे करने लगा.

फिर 3 उंगली डाल के उसकी चूत मारने लगा, अब हम दोनों गरम थे. तभी उसने कहा अब और मत तड़पाओ जान और दो मेरी चूत अपने मोटे और लंबे लंड से, मैं अपनी कुछ देर उसके चूत में ऊँगली डाल कर चूत चोदने लगा.

फिर उसके पैर उठा के कंधे पर रख कर उसकी चूत में लंड एकदम जोर मार के घुसेड़ दिया, करीब आधा लंड चूत में गया वो चिल्लाने लगी, गिड़गिड़ाने लगी.

मैं मर जाउंगी, प्लीज  बाहर निकालो, बहुत दर्द हो रहा है. तुम्हारा बहुत लंबा और मोटा है. गोविंद का तुम्हारे आधा भी नहीं है, लेकिन मैंने जोर लगाके धक्का मारा पूरा लंड उसकी चूत में गया. मे प्यार से एक के बाद एक दम दार धक्के मारने लगा. वह अजीब अजीब आवाज निकालने लगी. मेरे राजा तुम मुझे अपनी रंडी समझकर चोद दो, मैं अब सिर्फ तुम्हारी हूं. तुम जब चाहो तभी चोद सकते हो.

मैं करीब ३० मिनट उसे चोदता रहा, अब तक वह दो बार जड़ चुकी थी. मैंने जोर जोर से धक्के मारने लगा मैंने भी उसकी चूत में पानी भर दिया और उसके ऊपर पड़ा रहा. वह मेरी बालो में उंगलियों से सहलाने लगी और कहने लगी आई लव यू. तुमने आज मुझे औरत का सुख और प्यार दिया हे जो मुझे अपने पति से मिलना चाहिए था. उसने कहा की थेंक यु. तब मैंने कहा अभी तो एक और काम बाकी है और उठ कर उसकी घोड़ी बनने को कहा और गांड की दरार में लंड रब करने लगा.

सुमन ने कहा प्लीज़ गांड मत मारना, प्लीज़ तेरा बहुत बड़ा है. में कहां भाभी प्लीज एक ही बार गांड चोदने दो, मुझे तुम्हारी गांड मारने का सपना है. कुछ देर बाद ही मेरा लंड खड़ा हो चुका था, मैं उसे थप्पड़ मार कर लाल कर दिए और उसकी गांड को फैला दी. उसके मूल पर ठोक दिया हर लंड जरा मेरा करने लगा और एक दमदार जोर से धक्का मारा. आधा लंड गांड में चला गया वह गिडगिडाने लगी और कहने लगी है मां मर गई मे.. प्लीज बाहर निकालो बहुत दर्द हो रहा है, गांड फट जाएगी. मैंने कहा रंडी साली तेरी गांड तो पूरा गाव मारना चाहता है.

 

साली तू मुझे तेरी मारने से नहीं रोक सकती, क्योंकि तेरी गांड को सोच कर मैं कितना पानी लंड से निकाल चुका हूं. अब चांस मिला है अब तो तेरी गांड में मेरे पानी से भर रखूंगा. मेरा लंड उसकी गांड में था मैंने पीछे से उसकी कमर को कस के पकडडा और जोर का धक्का मारा. धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा और कुछ देर बाद मैंने रफ्तार बढ़ा दी और दम लगा कर धक्के मारने लगा.

 

वह बहुत ही जोर जोर से मोन करने लगी, आह ओह हां ओह हहह मां मर गई मैं कुछ देर में उसे भी मजा आने लगा, तो वह भी पूरे जोश में बोलने लगी, फाड़ दे मेरी गांड मुझे रंडी छिनाल की तरह चोद. और जोर से चोद मुझे मेरे राजा मैं आज से तेरी  हूं, जितना चाहे जब चाहे मुझे चोद. मैं और जोश में आया और दे दनादन जोर से चोदने लगा.

 

कुछ ४५  मिनट के बाद गांड में ही जड गया, वह वैसे ही बेड पर लेट गई. मैं उसे साइड में लेट गया. फिर क्या अब हम किसी पति पत्नी की तरह रहते हैं, मेरी चुदाई के बाद भाभी प्रेग्नेंट हो गयी हे. गोविन्द को कुछ पता नहीं था कि उसकी बीवी के पेट में मेरा बच्चा पल रहा है वह बहुत खुश था.

loading...