किरायेदार आंटी की चुदाई

किरायेदार आंटी की चुदाई

दोस्तों मेरा नाम प्रेम है और मेरी उम्र 26 साल है यह स्टोरी कुछ दिन पहले की है जब मैं अपने ताऊ जी के वहां गया हुआ था. वहां जाकर देखा कि एक स्मार्ट ही आंटी को उनके वहां रेंट पर रहती है. वैसे वह बिहार की रहने वाली थी.

loading...

उसका कलर सांवला था लेकिन फिगर अच्छा था. जब मैं वहां पर पहुंचा तो वह मेक्सी पहन कर खड़ी थी. उसका एक साल का बेबी था. वह मेरी तरफ देख रही थी उन्होंने मेरी कजीन सिस्टर से पूछा यह कौन है? तो सिस्टर ने बताया यह मेरे भाई हैं और 2 दिन यहीं पर रहेंगे.

और फिर यह सुनकर वह अंदर चली गई. मैं भी अंदर चला गया और अपने कजिन ब्रदर के साथ बैठ कर बात कर रहा था. वह मेरे साथ बिल्कुल फ्रेंडली था मैं भी आंटी के बारे में पूछने लगा.

 

भाई ने बताया यह पिछले २ महीने से हमारे यहां रेंट पर रहती है.

loading...

 

और उसके पति एक कंपनी में जॉब करते हैं, वह अभी यहां नहीं है. मैंने भाई से पूछा क्यों? तो भाई ने बताया कि वह गांव गया हुआ है उसके फादर ने बुलाया है, वह ३ दिन बाद आएगा.

यह सुनकर मैंने प्लानिंग शुरू कर दी. रात होने वाली थी मैं और भाई नीचे रुम में थे. और उस आंटी का रूम साथ में था. भाई ने मुझे पूछा रात को कहां सोना है ऊपर या निचे? मैंने बोला नीचे.

 

loading...

तो भाई ने बोला ठीक है तुम नीचे रूम में सो जाना और हम ऊपर सो जाएंगे मैंने कहा ठीक है.

और हम खाना खाने के लिए ऊपर चले गए. थोड़े समय बाद जब मैं नीचे सोने के लिए आया तो देखा आंटी खाना बना रही थी. मैं चेयर लेकर बाहर बैठ गया. मैं अपने फोन ने गाने सुन रहा था और आंटी को देख रहा था.

उनको पता चल गया था कि मैं उनको देख रहा हूं. उसने पूछा आप कहां से आए हो? तो मैंने उनको बताया और मैंने बातो बातो में बोल दिय आंटी आप बहुत सुंदर हो, तो वह मुस्कुराने लगी|

और बोला आज कितने दिनों बाद मुझे किसीने सुंदर कहा है. मैं और आंटी बातें करने लगे खाना बना चूका था. आंटी ने बोला खाना खा लो मैंने उनको बोला कि नही मैंने खा लिया है.

तो आंटी ने कहा तो क्या हुआ? थोड़ा और खा लो हमारे हाथों से बना. में उनको बोला आप इतने प्यार से खिलाओगे तो कोई भी जहर भी खा लेगा. मेरी बात सुन कर वह हंसने लगी और उन्होंने बोला ओके, फिर मुझे प्लेट में खाना दे दिया और टीवी ऑन कर दिया.

 

आंटी भी वहीं बैठ कर खाने लगी उनका बेबी भी वहीं पर लेट कर खेल रहा था. आंटी मूवी देख रही थी मुझे नाम ध्यान में नहीं है मुझे नाम कुछ उसका याद नहीं है उसमें अनिल कपूर और माधुरी दीक्षित थे. हम आराम से मूवी देख रहे थे और खाना भी खा रहे थे.

तो अचानक उसके ने रिमोट नीचे गिरा दिया और रिमोट की बैटरी निकल कर बेड के नीचे चली गई. तभी अचानक उस मूवी में किसिंग सीन स्टार्ट हो गया अनिल कपूर बहुत प्यार से माधुरी के ओठ को किस कर रहा था.

वो सीन देखकर आंटी इधर उधर देखने लगी. मैंने उनसे पूछा क्या हुआ? तो उन्होंने बोला कुछ नहीं. तो मैंने उनको बोला आजकल यह सब नॉर्मल सी बात है. वह मेरी बात सुन कर हंसने लगी और उन्होंने मुझसे पूछा कि तुमने किया है यह सब कभी?

मैंने बोला नहीं कभी मौका नहीं मिला. मैंने आंटी को बोला लेकिन आपको तो हर रोज मौका मिलता होगा यह सब करने का. तो आंटी चुप हो गई मैंने बोला क्या हुआ? तो उन्होंने बताया नहीं ऐसा कुछ नहीं है हम कभी कभी करते हैं, रोज नहीं.

loading...

 

अब  आंटी भी मुझसे खुलकर बातें करने लगी. वह मेरे सामने बैठी हुई थी और मेरे पैर की उंगलियां आंटी के पैर से टच हो रही थी. मैं अपने पैर की उंगलियों से उनके पैर को सहला रहा था, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं बोला. मैं समझ गया था अगर मैं उनको पकड़ भी लूं तो वह कुछ नहीं कहेगी.

लेकिन मैं ऊपर सभी के सोने का इंतजार कर रहा था. मैं ऊपर गया तो देखा सभी सो चुके थे. मैं पानी की बोतल लेकर नीचे आ गया. मैं आंटी के रूम में गया आंटी बर्तन साफ कर रही थी.

 

मैं वहीं पर बैठ गया और बर्तन साफ करने के बाद आंटी भी वहीं आकर बैठ गई. तभी उसका बेबी रोने लगा तो आंटी ने मेरे सामने अपने निपल को निकाला और बेबी को दूध पिलाने लगी.

 

आंटी की चूची देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा.मेरी नजर हर बार उनकी चुचियों की तरफ जा रही थी. आंटी को भी पता चल गया था  कि मैं उनकी चूची को देख रहा हूं.

 

थोड़े समय बाद उनका बेबी सो गया और आंटी ने बोला आप आराम से यहां टीवी  देखो मैं नहा कर आती हूं. और नहाने के लिए वह चली गई.

 

loading...

अब मैं कहां आराम से बैठने वाला था? मैं बाहर गया और बाथरूम के पास नीचे जाकर देखने लगा. आपको तो पता है वहां दरवाजे कैसे होते हैं नीचे से सब दिख जाता है. मैं आंटी को देख रहा था.

 

आंटी  बैठकर नहा रही थी. उन्होंने पेंटी पहनी हुई थी लेकिन उसकी चूत क्या बताऊं? मेरा लंड खड़ा हो गया उनको देखकर. आंटी मसल मसल कर नहा रही थी और यह देख कर मैं अंदर चला गया मुझ से रहा नहीं जा रहा था.

 

में आंटी के  रूम में जाकर खड़ा हो गया जैसे ही आंटी अंदर आई तो मैंने उनको कस कर गले लगा लिया और किस करने लगा. आंटी कहने लगी यह क्या कर रहे हो? कोई देख लेगा. मैंने बोला कुछ नहीं होगा सब सो रहे हैं.

मैं एक हाथ से आंटी की चूत को मसलने लगा. आंटी गरम हो गई और उनकी आंखें भी नशीली हो गई थी. आंटी ने मुझे कस कर मेरे लिप्स पर किस की और हम नीचे जमीन पर लेट गए.

 

आंटी ने मेक्सी पहनी हुई थी. मैंने जीप ओपन कर दी और उनकी मेक्सी उतार दी. आंटी ने कुछ भी नहीं पहना हुआ था क्योंकि वह नहा कर आई थी. मैं आंटी की चुचियों को चूसने लगा और एक हाथ से उनकी चूत मसल रहा था. आंटी की चूत गर्म हो चुकी थी.

मैंने अपना लंड निकाला और आंटी को चूसने के लिए बोला, तो आंटी मना करने लगी. मैंने बोला एक बार ट्राई तो करो आंटी मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

 

तो अचानक उनका मन वोमिटिंग का हो गया. मेने लंड उसके मुंह से बाहर निकाला और चूत पर रगड़ने लगा. आंटी का नेचर ज्यादा नॉटी नहीं था इसलिए वह बस आराम से चूद रही थी.

 

मेने लंड उनकी चूत में डाल दिया और चोदने लगा. आंटी का चेहरा देखने लायक था. उन्होंने अपनी आंखें बंद कर ली थी और वह आवाज निकाल रही थी|

 

और अपनी चुदाई का मजा ले रही थी. मैंने आंटी को डॉगी स्टाइल में चोदा. और  करीब 20 मिनट चुदाई करने के बाद हम सो गए और फिर करीब २ बजे मेरी आंखें खुली.

तो फिर से मेरा मन करने लगा मेने आंटी को उठाया और दोबारा चुदाई की इसी तरह अगले दीन रात को भी मेने चुदाई की. जब भी मेरा मन नहीं लगता तो आंटी से मिलने चला जाता हु.

loading...