चाची की मस्त मालीश के साथ चुदाई

 

हेलो दोस्तो मेरा नाम सिंह हे और मेरी उम्र 22 साल है. और मेरी हाइट 5 फुट 10 इंच है. मेरा लंड 7 इंच का है और मैं आपको अपनी रियल सेक्स स्टोरी हिंदी में बताने जा रहा हूं.

loading...

यह स्टोरी मेरी और मेरी चाची के बीच की है. मेरी चाची की उम्र 23 साल है वह बहुत ही मस्त है. वह दिखने में बहुत सेक्सी है उसे देखकर किसी को लगता नहीं कि वह दो बच्चों की मां हो सकती हे.

यह बात एक साल पुरानी है जब मैं 21 साल का था अपनी ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद घर पर ही बैठकर नौकरी की सर्च कर रहा था. हमारे साथ में चाचा जी का घर था और उनके घर में चाचाजी, चाची, एक लड़का और एक लड़की रहती थी.

हलाकि की हमारा सब काम अलग था, हमारे घर का एक ही मेन गेट है. और मेरी चाची से बहुत बनती है, और मैं अक्सर उनके बच्चों को पढ़ाता रहता हूं. और मैं ऐसे ही इस बहाने से चाची को देखता रहता था और  उनके नाम की मुठ मार लिया करता था. मुझे जब भी कोई बहाना मिलता तब मैं चाची को छू लेता था  और कभी काम करते हुए उनके बूबे देख लेता था बस पर कभी इससे आगे नहीं बढ़ पाया था.

यह बात चाची को भी मालूम थी कि मैं उनको घुरता रहता हूं. इनकी क्लीवेज देखता रहता हूं. पर उन्होंने कभी कुछ कहा बस हस कर आगे निकल जाती थी. इस वजह से मेरी हिम्मत बढ़ रही थी अब मुज़े रहा  नहीं जा रहा था.

गर्मियों की छुट्टियों में चाचाजी बच्चों को लेकर उनके मामा के घर छोड़ने चले गए और चाची नहीं गयी उनकी तबियत खराब थी और जहां बच्चों के मामा रहते हैं वहां पर चाचा जी के फ्रेंड के लड़के की शादी की तो चाचा जी को 4 दिन के लिए जाना था.

तो  जाते जाते चाचाजी मुझको कह गए की चाची का ध्यान रखना वह बीमार है उनको डॉक्टर के पास ले जाते रहना. और शाम को मैं उनको बस स्टैंड छोड़ आया  और घर वापस आकर सोचने लग गया की अब तो बस चाची को चोदना कैसे भी कर के. और उसी शाम ७ बजे चाची को तेज बुखार हो गया. मम्मी ने  मुझे कहा की चाची को डॉक्टर के पास ले जाओ. मैं उनको डॉक्टर के पास ले गया फिर डॉक्टर ने दवाई दी.

और हम घर वापस आ गए फिर मम्मी ने कहा मुझे कि तू आज यहीं चाची के पास रुक जा रात को, तो मैंने खाना खाया और मैं चाची के रूम में गया. चाची उस वक्त लेटी हुई थी पीछे से उनकी उभरी हुई गांड देख कर मुझे भी फिलिंग आने लगी और मैंने पजामा पहना हुआ था और गर्मी की वजह से मैं अंडरवियर रात को निकाल देता हूं.

थोड़ा आगे बढ़ा तो चाची ने मेरी तरफ देखा और मेरी तरफ मुड़ी तो उनका ध्यान मेरे खड़े लोड़े पर पड़ा. और उसको देखकर वह हल्का मुस्कुराई और मैंने उनका हाल चाल पूछा उसे अब पहले से बेटर लग रहा था. मैं उनके पास बैठ गया और थोड़ी देर  बात की.  तो वो कहने लगी थी उनके सर में दर्द हो रहा है तो मैंने कहा लाओ में मालिश कर देता हूं.

loading...

तो में सर के पास बैठ कर उन के सर पर मालिश करने लग गया. उनका ध्यान मेरे खड़े लोड़े पर था और वह हल्का सा करवट बदलने लगी और इसी बीच में उनका हाथ मेरे लोड़े पर लगा और अब कहने लगी कि बुखार में कमजोरी की वजह से कमर और और टांगों में काफी दर्द हो रहा है.

मेने कहां लाओ मैं आपके वहां भी मालिश कर देता हूं. अब पहले तो मना कर रही थी पर वह मेरी बात मान गई. और में उनकी टांगों में मालिश करने लगा लेकिन उनकी सलवार बीच में टांग कर रही थी. मैंने कहा यह आपकी सलवार पर तेल लग जाएगा यह बीच में आ रही है.

तो वह थोड़ा घबराई और कहां दरवाजा बंद कर के आओ. मैं दरवाजा बंद करने उठा और वह अपनी सलवार को निकालने लग गई. क्या कयामत लग रही थी. गोरे गोरे पेट गोरी टांगे मेरा तो पानी निकलने वाला हो रहा था.

केसे भी कर के मैंने कंट्रोल किया और मालिश करने लग गया और आराम से टांगों से होता हुआ उनके पेट तक पहुंच गया. अब उनकी आंखे बंद होने लग गई थी और वह गर्म होने लग गई थी और हल्की सी सिसकियां उनके मुंह से निकलने लगी थी. और वह कह रही थी और मसाज दो इसे थोड़ा दर्द कम हो रहा है.

अब मेने उनकी पीठ पर मसाज चालू कर दिया और उन्होंने कमीज ऊपर उठा दिया. चाची की ब्रा बीच में आ रही थी तो मैंने चाची से उसे हटाने के लिए कहा चाची ने अपनी ब्रा का हुक खोल दिया और उसे हटा दिया, मैंने उनको मसाज देने लग गया.

मेरा लंड एकदम कड़क हो चुका था. मैं जैसे में मसाज दे रहा था तभी एकदम मेरा लंड हल्का सा चाची की गांड पर टच हो गया. चाची कुछ भी नहीं बोली, में मसाज करते करते थोड़ा सा उनकी गांड की  तरफ पहुंच गया और अपना हाथ धीरे धीरे  उनकी गांड पर फेरने लगा.

चाची ने एकदम बोला आह्ह म्ह्ह अह्ह्ह ओम्म्म और मेरे को ग्रीन सिग्नल मिल गया. मेने चाची की कमीज उतार दी. मैं यकींन नहीं कर पा रहा था उनके बूब्स  बहुत गोरे थे और उनके पिंक निपल ने मेरे लंड को और खड़ा कर दिया. मैंने उन्हें किस किया और उनके बूब्स को दबाने लगा, में उनके बूब्स मेरे मुह से चूसने लगा.

चाची आह्ह ओह्ह अह्ह्ह औम्म्म करने लगी.

में चाची के ऊपर आया और उनके बूब्स से होते हुए उनके चूत तक पहुंच गया. उनकी गोरी चूत पर हलके हलके बाल थे. मैंने उनकी चूत को चाटना शुरू कर दिया और वह आह्ह ओह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह म्मम्म एस अह्ह्ह बस्स करती जा रही थी.

मेने उनके क्लिट  को अपने दांतों के बीच जैसे ही लिया हो एकदम चिल्लाई और मुझे और मुझे चूत चूसने के लिए बोली. अब उनका बुखार कहीं नजर नहीं आ रहा था. अब बस हम दोनों पर सेक्स का बुखार चढ़ गया था.

loading...

इसी बीच वह दो बार जड गई थी. और वह कहने लगी कि मुझे तो नंगा कर दिया अपने कपड़े नहीं उतारे. और तुरंत उन्होंने मेरी टी शर्ट और पजामा उतारा, और मेरे लंड को देखकर कहा वाह आज तो रात को मजा आएगा.

और हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. मैं तो मानो स्वर्ग में पहुंच गया था. फिर मैंने उनको कहा कि उसको मुंह में लो वो कहने लगी ऐसा पहले कभी नहीं किया पर मेरे बार बार कहने पर वह मान गई.

और पहले तो वह जिजक रही थी फिर आराम से जब उनको मजा आने लगा तो पूरा लंड ऐसे चूस रही थी मानो कोई पोर्नस्टार हो. फिर मुझे एक पोर्न मूवी का सीन याद आया और हमने 69 की पोजीशन में आ गए यह पोजीशन मुझे सबसे अच्छी लगी. और वह मेरे मुह में जड़ गयी और में भी जड़ गया.

थोड़ा सा पानी उन्होंने  पिया और बाकी चादर से साफ कर दिया. मैंने भी अपनी टी शर्ट से उनका पानी साफ किया और उनके पानी को कोई टेस्ट नहीं था. वह फिर उस को सहलाने लगी और मैं भी उनकी चूत में उंगली करने लग गया. और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. और वह कहने लग गई बस अब डाल दो अपने इस प्यारे लंड को मेरी चूत में.

मेने अपना लंड जेसे ही उनकी चूत में डाला वैसे की एकदम चाची ने मुझे पकड़ लिया और चिल्लाई कहा आह्ह धीरे.

 

मैंने अपना पूरा लंड उन की चूत में डाल दिया और वह एकदम चिल्लाने लगी मुझे चोदो जल्दी प्लीज़.

 

मैंने उन्हें चोदना शुरू किया और वह आह ओह्ह अहह ओह्ह और तेज और जोर से ओघ्ह्ह अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह अहहह एस हाहाह एस्स हाहाह ओह्ह्ह करो करती रही.

मैंने उन्हें 3 पोजीशन में चोदा. मैंने उसे डॉगी स्टाइल में आने को कहा उनकी गांड इतनी अच्छी थी, ना तो बड़ी और ना छोटी, एकदम परफेक्ट गोल थी. मैंने उनकी गांड में उंगली डाली और वह एकदम से चीलाई आह्ह यहाँ पर नहीं..

loading...

मैंने उनसे कहा चाची आप रुको तो आप को और मजा आएगा और वह मान गई. मैंने चाची की गांड पर थोड़ा सा तेल लगाया और अपनी उंगली उनकी गांड में डाल दी और वह एकदम आह्ह्ह्ह माँम्मम्मम चिल्लाई.

मैंने धीरे से अपनी उंगली निकाली और अपना लंड उनकी गांड पर रखकर और उन्हें हिप्स पकड़े और धीरे से उनकी गांड के अंदर अपना लंड डालना शुरू किया.

जैसे ही मेरा लंड उनकी गांड के अंदर गया वह चिल्लाने लगी, आह्ह ओह्ह्ह मार दोगे मुझे. मैंने फिर धीरे से अपना पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया और वो एक दम मौन करने लग गई.

ऐसा लग रहा था जैसे उनकी गांड आज तक उसके पति ने मारी ही नहीं थी. फिर मैंने अपना लंड अंदर बाहर करने लगा और चाची  हहह ओह्ह अह्ह्ह होह्ह्ह चोदो  फक मी आह्ह्ह ओह्ह फक मी बोलती रही. मैं उनकी गांड मारता रहा. तभी मेरा कम आने वाला था और चाची ने कहा कि उनके बूब्स पर मैं मेरा कम छोड़ दूं.

मैंने अपना कम उसके बूब्स पर फेंका और अपना लंड उनके बूब्स पर रगड़ने लगा. चाची ने अपने बाल पीछे रबर बंद से बांधे और मेरा लंड अपने हाथ में लिया और उसे अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी.

लंड चूसने के बाद मुझे बाथरुम में ले गई और फिर हम दोनों साथ में नहाए इस बार मेंने उनको साबुन लगाया और उसने मुझे. जब मैं उनकी चुची पर साबुन लगा रहा था तो मुझे फिर फिलिंग आने लगी और मेरा लंड खड़ा होने लगा.

और में उनके मुह को अपने हाथ से पकड कर उनको लिप किस करने लगा. वह भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और यह सब लगभग १५ मिनट तक चला और फिर हमने अपने बॉडी पर पानी फेरा और उसके बाद उनको टब पर बैठा कर थोड़ी देर मैंने उनकी चूत चाटी.

फिर उन्होंने थोड़ी देर मेरा लंड चूसा. फिर मैंने देर ना करते हुए लंड को उनकी चूत में डाल दिया. इस बार मेरा लंड बड़ी आसानी से उसकी चूत में समा गया और मैंने धीरे धीरे मेरा लंड उनके चूत में अंदर बाहर चालू कर दिया.

कुछ देर बाद उनकी आवाज आह होह्ह अह्ह्ह फह अहह हह ओफक मी आह्ह ओह्ह फक मी हार्ड प्लीज़ मी आह्ह खह आःह ओह्ह फक मी बेबी आय लव यु बेबी फक मी हार्ड अहः ओह्ह  बाथरुम में गूंजनी लग गई.

और चूत के पानी  और थूक की वजह से अब पुरे बाथ रुम में पच पच की आवाज आ रही थी और वह मुझे और जोशीला बना रही थी.

उन्हें उसी पोजीशन में करीब २० मिनिट तक नॉन स्टॉप चोदने के बाद मेने उनको डौगी स्टाइल में आने को कहा और वह पटक से डौगी स्टाइल में आ कर खड़ी हो गयी |

और में उनके पीछे जाकर उसकी चूत में मेरा मोटा लंड डाल दिया औए उसी पोजीशन में में उनको जोर जोर से चोदने लगा और उसकी गांड पर में थप्पड़ मरने लगा था |

और वह जोर जोर से आह्ह फह अह्ह्ह ओह्ह हांआह्ह ओफ्ह फ़क मी आह्ह ह्ह्ह प्लीज़ फक मी आह्ह ओह्ह्ह कर रही थी और मेरा जोश बढ़ा रही थी.

में उनके इस आवाज से उनको और जोर से चोदने लगा और अब ठप ठप ठप ठप की आवाज गूंज रही थी और हम एकदम पसीने में लथपथ हो गये थे और जोर जोर से हांफ रहे थे.

फिर मेरा निकलने वाला था तो मेने उनको पूछा की कहा पर निकालू तो वह बोली के तुम्हारा लंड रस मेरी चूत में ही डाल दो मुझे फिल करना हे की कैसा लगता हे इस रस को चूत में लेकर.

फिर मेने एक दो जोर जोर से धक्के मारे और मेरा रस उनकी चूत में डाल दिया. फिर हम थोड़ी देर के लिए ऐसे ही पड़े रहे और बाद में उठे और उसने कहा की इस बार वह ५-६ बार जड़ गयी थी.

फिर हमने बाथ लिया और फिर चाची बोली की यह उनका सबसे बेस्ट सेक्स एक्सपीरियंस था और उन चार दिन में हम दोनों ने जम कर चुदाई की लेकिन सेक्स के खुमार में उनको और ज्यादा कमजोरी आ गयी थी लेकिन बाद में ठीक हो गयी थी.

चाचा के आने के बाद हमारा रिश्ता कुछ महीने चला. जब भी उनके पति ऑफिस या कही बाहर जाते वह मुझसे चुदने के लिए बता देती थी. मगर अब में जॉब करता हु और में चंडीगढ़ आ गया हु और अब हमने सेक्स किया था उस बात को आज आठ महीने बित चुके हे.

loading...