भाभी ने दो पैरो के बिच जन्नत दिखाई

भाभी ने दो पैरो के बिच जन्नत दिखाई

प्रेषक : वसीम …

loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम वसीम है और मेरी उम्र 29 साल है और में अकेला लड़का हूँ और में एक सॉफ्टवेयर कंपनी में सीनियर की पोस्ट पर हूँ। मेरी पोस्टिंग नये प्रॉजेक्ट के लिए पुणे में हुई तो मुझे वहाँ आना पड़ और प्रॉजेक्ट बड़ा था तो कंपनी ने वहाँ एक अपार्टमेंट में मेरा रहने का इंतज़ाम कर दिया था।

फिर कुछ दिन में ही में वहाँ सेट हो गया, उस दिन रविवार था तो में लेट उठा और अब मुझे चाय बनानी थी तो में किचन में गया तो मुझे याद आया कि दूध तो है ही नहीं। फिर में दरवाजा खोलकर बाहर आया।

फिर मैंने देखा कि सामने एक औरत खड़ी थी और वो कमाल की खूबसूरत, उम्र करीब 27-28 साल होगी, उसने मखमल का नाईट गाउन पहना था और वो काफ़ी सेक्सी और मस्त था। अब में तो उसे देखता ही रह गया। फिर उतने में उसने मुझसे हैल्लो कहा, तब मेरा ध्यान उसकी बात पर आया, उसने कहा।

वो : हैल्लो।

में : हैल्लो।

वो : मेरा नाम शाहीन है, तुम यहाँ नये हो?  पहले देखा नहीं है।

में : मेरा नाम वसीम है, हाँ बस 3 दिन पहले ही आया हूँ।

शाहीन : ओके, नाईस टू मीट यू वैसे क्या हुआ कुछ ढूंढ रहे हो?

loading...

में : हाँ वो दूध।

शाहीन : अब कहाँ से मिलेगा, टाईम देखा है 11 बज गये है, इतना कहकर उसने स्माईल दी। फिर कहा कि तुम फ्रेश हो जाओ। फिर मेरे घर आ जाना में नाश्ता बना रही हूँ तो यहाँ साथ में कर लेना।

फिर मैंने ओके कहा और यह कहकर में अपने रूम में आ गया और नहाने चला गया, लेकिन अब में  सिर्फ़ शाहीन के बारे में ही सोच रहा था, अब मेरा लंड टाईट भी हो गया था। फिर थोड़ी देर के बाद में   तैयार होकर उसके घर गया तो उसने स्माईल देकर वेलकम कहा और टेबल पर बैठने को कहा। फिर 2  मिनट में वो नाश्ता लेकर आई और हमने साथ में नाश्ता किया।

फिर उसने बताया कि वो शादीशुदा है, लेकिन पति काम के सिलसिले में ज्यादातर बाहर ही रहते है। फिर मैंने पूछा कि बच्चे? तो वो हंस पड़ी और एक नॉटी सी स्माईल दी और कहा कि पति बाहर है तो?

फिर में समझ गया और मैंने टॉपिक चेंज करने के लिए कहा तो आज का क्या प्लान है? तो उसने कहा कि कुछ खास नहीं, मेरा तो जब मूड बने प्लान बन जाता है, आज रविवार है तो तुम्हारा क्या प्लान है? यह कहकर वो उठी और किचन में चली गयी। फिर मैंने भी तब तक अपने हाथ वॉश किए और सोफे पर आकर बैठा तो उतने में वो आई और थोड़ा सा झुक कर बैठी।

फिर उतने में मुझे उसके दोनों बूब्स दिखाई दिए, वाह क्या कमाल के थे? एकदम गोल-गोल। अब उसको भी पता था कि मैंने वो नज़ारा देख लिया है। फिर उसने कहा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है? फिर मैंने कहा कि नहीं और आज कोई प्लान नहीं है।

फिर उसने कहा कि तो ठीक है और अगर फ्री हो तो शाम को मूवी देखने चले? फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है। अब रात को मूवी देखने के बाद हम कार में घर आ रहे थे, अब हम दोनों खामोश थे और वो कार ड्राईव कर रही थी और मेरा ध्यान पूरी तरह से शाहीन पर था, वाह क्या शाम थी आज की?

उसका खूबसूरत बदन, शॉर्ट टॉप और जीन्स, उभरते हुए बूब्स, आग लगा देने वाली उसके जिस्म की खुशबू, उसका मूवी देखते वक़्त मेरे हाथ को टच करना और अपना सर मेरे कंधो पर रखना, उसके बूब्स का टच होना, उसके लिप्स मेरे करीब आना, वाह में तो पागल हो गया था। उतने में उसने कहा कि क्या हुआ? क्या सोच रहे हो? तो मैंने कहा कि कुछ नहीं बस।

शाहीन : कोई बात है तो कह दो, अब तो हम दोस्त है ना।

में : नहीं ऐसी कोई बात नहीं है, बस थोड़ा प्रॉजेक्ट का सोच रहा था।

loading...

अब उतने में हम घर पहुँचे। फिर उसने कहा कि प्रॉजेक्ट तो कल करना है तो कल सोचो आज तो बस मजे करो। अब यह कहकर उसने एक नॉटी सी स्माईल दी और लिफ्ट में एंटर हुई, अब हम फ्लोर पर पहुँचे।

फिर उसने कहा कि क्या तुम मेरे घर आ सकते हो? वैसे भी तुम भी अकेले हो तो मैंने कहा कि ठीक है। फिर वो फ्रेश होने बाथरूम में गयी, अब में सोफे पर बैठा था। फिर कुछ देर के बाद उसके बेडरूम से आवाज़ आई कि अंदर आ जाओ।

फिर में अंदर गया तो में शॉक हो गया, क्या नज़ारा था? उसने एक रेड कलर का शॉर्ट गाउन पहना था, उसके आधे बूब्स तो दिखाई दे रहे थे और जांघो का क्या कहूँ? मस्त चिकनी गोरी। अब में तो उसे देखकर दंग रह गया। फिर उसने कहा कि क्या हुआ कभी गाउन में लड़की को नहीं देखा? तो मैंने कहा कि देखा है,|

लेकिन आप जैसी खूबसूरत किसी को नहीं देखा, आप बहुत खूबसूरत लग रहे हो तो उसने थैंक्स कहा और बेड पर बैठ गयी। अब में भी उसके पास आकर बैठ गया, अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसको पकड़कर किस करना चालू कर दिया। अब में स्मूच कर रहा था और वो भी मेरा साथ दे रही थी, अब मेरी हिम्मत बढ़ गयी थी और अब मैंने उसके बूब्स को प्रेस करना चालू किया। शाहीन अब धीरे-धीरे मौन कर रही थी, अब वो भी गर्म होने लगी थी।

फिर उसने मुझे कस कर हग कर लिया और फिर हमने 10 मिनट तक स्मूच किया। फिर मैंने अपना हाथ पीछे उसकी पीठ की तरफ बढ़ाकर उसके गाउन का हुक खोल दिया।

अब वो सिर्फ़ पेंटी में थी और अब उसके आज़ाद बूब्स वाह्ह्ह मानो मेरे सामने ज़न्नत थी, उसकी नशीली आँखे मुझे बुला रही थी। फिर मैंने उसके बूब्स को चूमना शुरू कर दिया तो वो तड़प उठी। अब में बीच-बीच में उसे स्मूच करता हुआ धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा था और यही उसको बहुत पसंद आया। अब मैंने अपना हाथ उसकी पेंटी की और बढ़ाया और ऊपर से ही रब कर रहा था।

फिर उसने भी मेरी जीन्स का बटन खोला और अपने एक हाथ से जीन्स को खींचा तो मैंने उसकी मदद करते हुए अपनी जीन्स निकाल दी। फिर उसने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया। फिर मैंने अपनी उँगलियों से उसकी पेंटी को नीचे सरकाते हुए खींच लिया।

अब वो पूरी तरह से नंगी मेरे सामने लेटी थी, उसका कातिल जिस्म, सच में जन्नत की परी भी उसके सामने कुछ नहीं है। फिर में उसकी चूत पर टूट पड़ा और अपनी जीभ से उसकी चूत को चाट रहा था। अब उसने मेरे सर को कसकर पकड़ लिया, अब वो कभी मेरी पीठ पर अपने नाख़ून चुभाने लगी थी, अब वो बहुत तड़प रही थी। फिर मैंने पूछा कि क्या ऐसा पहले नहीं किया?

शाहीन : किया है, लेकिन ऐसा नहीं, सिर्फ़ एक बार उन्होंने किया था।

में : अच्छा लग रहा है ना?

loading...

शाहीन : हाँ बहुत, यह दर्द मुझे बहुत मीठा लग रहा है।

अब में और ज़ोर से उसकी चूत को चाटने और चूमने लगा और अपनी उंगली भी उसमें डालकर अंदर बाहर करने लगा था। अब वो कहने लगी कि अब और रहा नहीं जाता, बस करो और मुझे चोदो, में तड़प रही हूँ, इतने में वो झड़ गयी। फिर मैंने उसको अपना लंड मुँह में लेने को कहा और उसने वैसा ही किया।

फिर उसने मेरी अंडरवियर को उतारा और मेरे लंड को हाथ में पकड़कर बोली कि वाह्ह्ह वसीम यह तो बहुत बड़ा और मोटा है। फिर मैंने कहा कि जो भी है तुम्हारा है, चूसो इसे तो उसने झट से मेरे लंड को अपने मुँह में लिया और चूसने लगी।

अब वो मेरे लंड को पूरा मुँह में लेने लगी थी और बीच-बीच में मेरे बॉल्स को भी चूमती, क्या बताऊँ दोस्तों? अब में तो जन्नत में था, बहुत मज़ा आ रहा था। अब वो भी पूरे जोश में थी।

फिर वो मेरे लंड को पूरा दबाकर ऊपर से नीचे तक चाटने लगी, क्या मदहोशी थी यारो? में बयान नहीं कर सकता। फिर थोड़ी देर के बाद मेरा वीर्य निकल गया और उसके चेहरे पर पड़ गया, अब वो अपनी जीभ से चाटने लगी। फिर हम दोनों वॉशरूम गये और वहाँ उसने शॉवर चालू किया, अब हम दोनों पूरे भीग गये थे।

फिर कुछ देर के बाद मैंने उसे अपनी गोदी में उठाया और बेड पर लेकर आया और अब वो समझ चुकी थी कि अब टाईम आ गया है। दोस्तों ये कहानी आप चोदकाम डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब मैंने फिर से उसके पूरे बदन को चूमा तो कुछ देर के बाद वो बोली कि मेरे राजा अब आ जाओ समा जाओ मुझमें और ऐसा कहकर उसने अपनी टाँगे फैला दी। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और एक झटका दिया और अपना लंड पूरा अंदर घुसाया तो उसकी चीख निकल गयी और वो कहने लगी कि दर्द हो रहा है।

फिर मैंने उसके दर्द को कम करने के लिए उसके होंठो को चूमा और फिर से धक्का लगाया तो अब मेरा लंड पूरी तरह से उसकी चूत के अंदर घुस गया। अब उसका दर्द भी कम होने लगा था और अब वो भी मजे लेने लगी थी।

अब में लगातार धक्के देने लगा, उसके बूब्स को होंठो को चूमने लगा और अब मेरा लंड उसकी चूत के अंदर धूम मचा रहा था। अब उसने मुझे कसकर पकड़ा हुआ था और वो उसके कूल्हों को भी उठाकर मेरा पूरा साथ दे रही थी।

शाहीन : मेरे राजा, क्या मस्त मज़ा आ रहा है? ऐसी चुदाई मैंने पहले कभी नहीं की, उनको तो कुछ आता ही नहीं, तुम सच में जानते हो एक औरत को क्या चाहिए? में तुम्हारी हूँ चोदो मुझे, आह ओह मेरे राजा में सिर्फ़ तुम्हारी हूँ, मेरा यह बदन तुम्हारा है, चोदो मुझे, हह्ह्ह्ह में मर गइईईई ओह माँ, अब उसकी सिसकियां सुनकर में भी और जोश में आ गया और ज़ोर से झटके देने लगा।

में : हाँ जान अब तुम मेरी हो, अब में हर रोज तुमको यह प्यार दूँगा, ऐसा कहकर में और तेज-तेज झटके देने लगा।

फिर मैंने उससे कहा कि अब स्टाईल चेंज करते है और उसको डॉगी स्टाईल में चोदने को कहा तो वो समझ गयी और पोज़िशन में आ गयी। फिर मैंने अपना लंड पीछे से उसकी चूत में डाल दिया और अब उसे दर्द हुआ, लेकिन अब वो मज़े ले रही थी, मेरे राजा वाह क्या चुदाई है? सच में आज तुमने मुझे वो सुख दिया है जिसके लिए में सालों से तड़प रही थी आई लव यू जान।

फिर में उसे इस पोज़िशन में चोदता रहा, अब इस दौरान वो 3 बार झड़ चुकी थी। अब मेरा भी निकलने वाला था। फिर मैंने उसे लेटने को कहा और पूछा कि कहाँ निकालूं? तो उसने कहा कि अंदर ही डाल दो कुछ नहीं होगा, जिस तरह तुमने मुझे चोदा है में तुम्हारे वीर्य को महसूस करना चाहती हूँ और इस पल को पूरी तरह से इन्जॉय करना चाहती हूँ।

फिर इतने में मैंने अपना पानी उसकी चूत के अंदर डाल दिया और उसको टाईट हग करते हुए उस पर पड़ा रहा। अब उसने भी मुझे पकड़ा हुआ था और फिर थोड़ी देर के बाद रिलेक्स होते हुए उसने मुझसे कहा कि मुझे आज बहुत मज़ा आया, सच में मेरे वो तो कुछ करते ही नहीं है |

और जब मूड हुआ तो बस खुद की प्यास बुझाने के लिए मेरे अंदर पानी डाल देते है और सो जाते है, लेकिन सोचते नहीं कि मुझे भी प्यास लगती है। फिर मैंने कहा कि तुम अब फ़िक्र मत करो में हूँ ना, अब उनकी ज़रूरत क्यों है? इतना कहकर मैंने उसको चूम लिया।

फिर हमने उस रात 3 बार और चुदाई की। फिर सुबह हमने साथ में बाथ लिया और अब हमें जब भी मौका मिलता है तो हम प्यार करते है ।।

धन्यवाद …

loading...