पड़ोसन भाभी की सेक्स की चाहत​

मैं एक पंजाबी लड़का हूँ और साल 2012 मैं मे अपने काम के चलते अलाहाबाद गया हुआ था, कन्स्ट्रक्षन का काम था जिस के लिए मैने एक कमरा रेंट पे ले लिया|

मैं अक्सर सबह चला जाता और देर रात को काम से वापिस आता, एक दिन जब मैं काम से घर लौटा तो मैने देखा के साथ वाले रूम मैं एक कंपनी इंजिनियर आया हैं,

loading...

उसने वो रूम रेंट पे ले लिए वो भी किसी कंपनी मैं काम कराता था, नेक्स्ट डे जब मैं काम से वापिस आया तो उसकी फॅमिली भी वाहा आ गयी जिसमे उसकी बीवी और 2 बचे थे|

एक लड़का और एक लड़की, मैने ज़ायदा ध्यान नही दिया और अपने रूम मैं चला गया, फिर मेरे कंपनी का काम नेक्स्ट वीक किसी बात के चलते बंद हो गया और उसको दुबारा शुरू होने मैं 15-20 दिन लगने थे, मैने सोचा के पंजाब चलता हूँ लेकिन फिर ये था के काम शुरु हो गया तो जल्दी आना पढ़ सकता है इस लिए मैं घर पे हे रुक गया.

मुझे पता चला के साथ वाले रूम्स मैं भी और लोग आ रहें है,

फिर नेक्स्ट डे मंडे मैने इंजिनियर से थोड़ी बात की वो अपने बचों के साथ पास के एक स्कूल जा रहा था और मुझे बोला के एक साल यही रुकना है बचों की अड्मिशन करवाने जा रहा हूँ,

नेक्स्ट डे सबह इंजिनियर सब बचों को स्कूल शॉड आए और खुद काम पे चले गये, मैं सबह का नाश्ता कर के घर आया तो जो नज़ारा मैने देखा वो देख कर एक बार तो दिमाग़ हिल गया,

इंजिनियर सब की वाइफ अपने रूम के बाहर जादू लगा रही थी और उस ने गऊन्न पहन रखा था, जब वो जुक के जादू लगा रही थी तो उसकी क्लीवेज सॉफ दिख रही थी, मैने सोचा अब रूम मैं टाइम पास हो जाएगा कही जाने की ज़रूरात नही है,

फिर हर रोज मैं जब भी टाइम मिलता जा भाभी जी दिखाई देती तो उनको देख लेता था, पर मुझमे बात करने की हिम्मत नही थी और ना ही मैने कभी उन को बुलाया ही.

रूम्स के बाहर थोड़ी खाली जगह थी जहा पे भाभी ने वॉशिंग मशीन सेट कर रखी थी और वो वाहा पे क्लोद्स वॉश किया कराती थी, एक दिन मैं रूम के बाहर खड़ा था तो बभी आई और क्लोद्स वॉश करने लगी,

loading...

मैने हिम्मत कर के पूछा के आप कहा के रहने वाले हो तो अनो ने हंस कर बोली के हम केरला के रहने वाले हैं, फिर थोड़ी सी बात हुई और वो अपने रूम मैं चली गयी,

रोज सबह जब बचे और इंजिनियर सब चले जाते तो मैं अपने रूम मैं इंग्लीश सॉंग्स लगा लेता और रूम का दरवाजा ओपन कर लेता, भाभी भी रोज जादू लगती और मेरे रूम के सामने तक आ जाती,

फिर वो मुझे देखती तो अपना गऊन्न नेक से ठीक कराती और चली जाती, 5-6 दिन तक यू हे चला, फिर ईव्निंग मैं उन के घर बचों को पड़ने के लिए एक टीचर आने लगा, वो एक घंटा बचों को पड़ता और चला जाता, मंडे मॉर्निंग मैं अपने रूम के बाहर खड़ा था तो भाभी क्लोद्स वॉश करने आई.

मुझे भाभी का नाम भी पता नही था तब तक, फिर मैने उनका नाम पूछा तो अनो ने बताया के उन का नाम अनिता है, फिर कुछ बात हुई और वो बोली के यहा के टीचर अच्छे नही हैं,

बाहों को टियूशॅन सही नही दे रहा है, मुझे बोला के आप की इंग्लीश सही लगती है तभी आप इंग्लीश सॉंग्स सुनते हो आप बचों को कुछ पड़ा दिया करो, मैने कहा के जब तक फ्री हूँ ज़रूर पड़ा दिया करूँ गा,

फिर अनो ने मेरे नाम पूछा और मैने बताया के मेरा नाम सॅंडी है और मैं पंजाब से हूँ, उस ईव्निंग मैने बचों का होमे वर्क करवा अपने रूम मैं बुला के, बचे मेरे साथ खुश थे मैं उन से मज़ाक भी कर रहा था

अब मैं अनिता भाभी से छे माँग लिया कराता था ईव्निंग मैं और वो मेरे रूम के बाहर आ के छे दे जाती, मेरे काम फिर से स्टार्ट हो गया लेकिन साला काम पे ध्यान नही लग रहा था, अनिता भाभी की याद बहुत आती और दिल कराता के पकड़ लॅंड लेकिन ये सोच रहा था के कैसे?.

फिर 2 वीक्स के तरफ इंजिनियर सब को घर जाना पढ़ गया,

उनकी मौसी की डेत हो गयी थी लेकिन बचों के स्कूल की वजह से भाभी नही जा सकी, फिर मुझे लगा के ये सही मौका हो सकता है, अब हे कुछ किया जा सकता है नही तो कभी नही, फिर नेक्स्ट डे मैं ईव्निंग मैं जल्दी घर आ गया, और बचों को मिला,

उनका टियूशॅन टीचर भी आया हुआ था, वो कुछ देर रुका और फिर चला गया, मैने देखा के वो कुछ भी सही नही करवा रहा बस टाइम पास कर रहा है, मैने अनिता भाभी को बोला के इसका आना बंद कर दो बचों को ये ग़लत हे प़ड़ाए जा रहा है,

loading...

और भाभी बोली के तुम्हारे पास भी तो टाइम नही है हमारे लिए, मैं थोड़ा सा चुनका फिर भाभी ने मुझे अपने रूम मैं बुलाया और छे पिलाई, आज भाभी कुछ ज़ायदा हे खुश थी और हंस हंस के बातें कर रही थी,

मैने भाभी का नंबर माँगा और कहा के इंजिनियर सब नही हैं इस लिए किसी चीज़ की ज़रूरात हो तो फोन कर देना.

उन्होने मुझे नंबर दिया और मैने मिस कॅल कर दी, भाभी ने मेरा नंबर सेव कर लिया, रात को मैने एक बियर पे और डिन्नर कर के घर पे आ गया, भाभी का रूम अंदर से बंद था, मैने सोचा के कैसे भाभी से बात की जाए,

फिर बियर के जोश मेने मैने मेसेज किया और लिख दिया गुड नाइट, करीब एक घन्टे तरफ रिप्लाइ आया गुड नाइट जी,

मैने फिर से मेसेज किया सोए नही आप, भाभी- नही अभी नही, बचे सो गयेन हैं लेकिन, मैने नेक्स्ट मेसेज मे लिखा के के काम कर दो भाभी अगर बुरा ना लगे तो,

भाभी “बोलिए” मैं “एक कप छे मिल सकती है क्या, दिल कर रहा है छे पीने को” भाभी मैं छे बना कर मेसेज कराती हूँ, ई साइड ओके, फिर 10 मिनट तरफ भाभी का फोन आया छे बन गयी है आ कर ले जाओ, मैने फोन पे कहा आप नही पेवगी,

भाभी ने बोला हाँ मैने अपने कप मैं रख ले है, मैने भाभी को कहा के आप ले कर आ जाओ मेरे रूम मैं, हम बात करते करते छे पेएँगे.

वो बोली नही तुम ले जाओ आ के, मैने कहा के फिर आप रहने दो, आख़िर भाभी मन गयी और बोली चलो आती हूँ, मैने रूम का दूर ओपन कर दिया और हल्की सी ठंड होने के चलते मैने कंबल ओढ़ लिया,

भाभी गऊन्न पहन के रूम पे आई, देख कर मेरा लॅंड कंबल के अंदर आग उगलने लग गया, फिर भाभी ने मुझे एक कप दिया और खुद चेयर पर बैठ गयी, मैने बोला भाभी जी ठंड लगवानी है क्या,? बेड पे आ जाओ बहुत बड़ा है और कंबल ले लो, वो कुछ नही बोली और बेड पे आने लगी, मैने भाभी को बोला के रूम का दूर थोड़ा बंद कर दो हवा आ रही है,

भाभी ने रूम का दरवाज़ा लॉक कर दिया और कंबल मैं आ गयी, फिर वो मेरे सामने बेठ कर छे पीने लग गयी, मैने अपना पाँव भाभी के पाँव से लगा दिया और बात कराता रहा जैसे खुश भी ना हो रहा हो भाभी ने भी पाँव नही हटाया, छे ख़त्म हो चुकी थी और अब भाभी ने बोला अच्छा तो मैं चलती हूँ.

loading...

लेकिन मैने कहा के रुक जाओ 10 मिनट के लिए वो कहने लगी, नही, मुझे से रहा नही गया और मैने भाभी को अपनी बाहों मैं ले लिया और किस करने लगा, भाभी मेरे से चोतने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैं कहा सोडने वाला था,

मैने भाभी को किस करना नही सोडा और बभी का गऊन्न ऊपर उठा दिया, भाभी की ब्रा को ऊपर किया और बूब्स चूसने लगा, भाभी को पता नही क्या हुआ और उनोणे मुझे जपत दिया, और कप वही सोध के गुस्से मैं चले गयी,

नेक्स्ट डे मॉर्निंग मैं बचे स्कूल चले गये और मैने काम से छुट्टी कर ली, भाभी बाहर आ के जादू लगाने लगी लेकिन मेरे तरफ देख भी नही, मैने भी कुछ नही कहा, दुपेहर 12 बजे मैने मेसेज किया सॉरी, भाभी का कोई रिप्लाइ नही आए,

फिर मैने मेसेज किया सॉरी तो भाभी का मेसेज आया के तुम से ये उमीद नही की थी, मैने मेसेज कर के कहा के आप को फोन कर सकता हूँ, फिर मेसेज आया क्यूँ, मैने लिखा बस के बार बात कर लो.

फिर मेसेज आया ओके, मैने फोन किया और बोला भाभी ई म सॉरी रात मुझे पता हे नही चला के मुझे क्या हो गया था, मैं आप को बहुत प्यार करने लग गया हूँ, भाभी – एसा क्या है मुझे मैं, मैं- आप बहुत स्वीट और सुन्दर हो,

आप के जैसी लड़की कभी देखी नही है मैने, भाभी- खुश हो के अच्छा मस्का मॅट मरो, मैं- फिर माफ़ कर दो ना मुझे नही तो मैं रूम शॉड के चला जाऊ गा, भाभी बोली ओके लेकिन फिर दुबारा मत करना एसा, मैने कहा ओके,

लेकिन आप को पता है के शेयर के मूह को जब खून लग जाए तो फिर शिकार ज़ायदा दिन बच नही सकता, रात को फिर मेसेज किया और बोला मेरी छे तो दे जाओ भाभी, भाभी का रिप्लाइ आया नही,

मैने कहा आप ने माफ़ नही किये मुझे ना, भाभी, कर दिया है बोला ना, मैं- फिर छे दे कर जाओ, ओके बाबा , फिर 10 मिनट तरफ भाभी छे ले कर आई और हम ने नॉर्मल हो कर छे पी, जब भाभी जाने लगी तो मैने उन्हे कहा ई लव यू अनिता और हग कर लिया.

वो कुछ नही बोली, मैं कहता रहा ई लव यू, ई लव, ई लव यू फिर भाभी बोली के एसा नही हो सकता मैं मॅरीड हूँ, लेकिन मैने उन्हे शोदा नही और बेड पे गिरा लिया, और किस करने लगा अब भाभी ने भी मेरे कान मे बोला ई लव यू टू,

बस फिर क्या था मैने उनको पकड़ लिया और गऊन्न उत्तर दिया, फिर मैने कोई जल्दी नही की और बूब्स दबाने लगा और किस कराता रहा, मुझे पता था आज की रात मेरी है, मैने भाभी की चुत पे हाथ फेरा तो वो पागल हो गयी,

मैने उनकी पैंटी निकल दी और किस कराता रहा, फिर मेने अपने कपड़े उत्तर दिए और अपना 7 इंच का लॅंड भाभी की चुत पे रख दिया, भाभी ने आखें बंद कर ली और लेग्स खो दी मैं ज़मीन पे था और वो बेड पे फिर राइड शुरू हो गयी और बेड की आवाज़ आने लगी,

टाइम का पता नही चला के कितन लगा लेकिन मज़ा बहुत आया, फिर हम दोनो एक साथ झाड़ गये, उस रात भाभी को 3 बार अच्छे से चोदा और सबह 5 बजे वापिस बेजा.

loading...