गुजराती औरत की चुदाई की कहानी

हेलो प्यारे दोस्तों आज आप को सेक्स के तरंगो में डुबोने के लिए यह कहानी पेश करता हूँ.

मैं एक बिजनेशमेन हूँ और ढाई साल से बिजनेश में हु. अक्सर मुझे काम की वजह से बहार जाना पड़ता हैं क्लाइंट वगेरह से मीटिंग के लिए.

loading...

 

ऐसे ही एक बार मैं गुजरात की एक सिटी आनंद गया था. जब मैंने पहले वहां कॉल किया तो रिसेप्शनिस्ट के साथ फर्स्ट टाइम बात हुई और उसकी आवाज एकदम सेक्सी लग रही थी और उसने मेरा अपोइन्टमेंट फिक्स किया था.

तो मैंने अपोइन्टमेंट के हिसाब से टाइम टू टाइम वह पहुँच गया और वह जाके उस रिसेप्शनिस्ट से मिला तो पता चला की जिस से बात हुई थी वो एक मच्योर एज की आंटी थी. उसका नाम पूर्वी था और एज करीब ३५ साल की थी उसकी.

 

उसका फिगर कुछ ३४-३०-३४ का होगा. वैसे वो कुछ ख़ास नहीं दिखती थी लेकिन उसका आवाज एकदम सेक्सी था. फिर मैं मीटिंग के लिए ऑफिस में चला गया और करीब ३० मिनिट तक मीटिंग खत्म कर के बहार निकला. फिर मैं थेंक्स बोलके वहां से निकल गया, पूर्वी आंटी ने मुझे मस्त स्माइल दे दी.

अब मैं वहा ट्रेन से गया था इसलिए मीटिंग खत्म कर के मैं स्टेशन की और जाने लगा. रस्ते में मेरे बगल में एक एक्टिवा आके रुकी. मैंने देखा तो वो पूर्वी आंटी ही थी उसने मुझे पूछा की कहा जाना हैं तो मैंने स्टेशन कहा.

 

तो वो बोली चलो बैठ जाओ क्यूंकि यहाँ से थोडा आगे हैं और ऑटो भी मिलना आसान नहीं हैं. मैंने कहा आप तकलीफ मत करो, तो वो बोली की बैठ जाओ वरना ट्रेन छुट गई तो मिलेगी नहीं. और उसने यह बार एकदम नोटी वोईस में कही थी.

loading...

वो उस वक्त लंच के लिए घर जा रही थी. उसने कहा की मेरे घर के पास से ऑटो मिल जाएगा मैं वहाँ तक छोड़ दूंगी तुम्हे. मैं उसके पीछे एक्टिवा के ऊपर बैठ गया.

फिर हम दोनों निकले वहाँ से उसके घर के पास पहोंचने पर मैं उतर गया. मैं उसे थेंक्स कह के निकलने को ही सोच रहा था की उसने मुझे कहा की अब मेरा घर आ गया हैं तो चाय पी के ही चले जाना.

 

मैंने बहोत मना किया लेकिन उसकी जिद्द के आगे मेरी नहीं चली. हम लोग घर के मेन डोर पर गए तो मैंने देखा की वहां ताला लगा हुआ था.

 

मैंने पूछा की यहाँ लोक क्यूँ लगा हैं तो उसने कहा की मैं अकेली ही रहती हूँ. मैंने पूछा की इतने बड़े घर में आप को अकेले रहना बोर सा नहीं लगता तो वो बोली की अब तो आदत सी हो गई हैं मुझे फिर उसने कहा की अब तो ९ साल हो गए हैं इस घर को और मुझे अकेले अकेले.

 

मैं तो जॉब भी कुछ टाइम के लिए इसलिए करती हूँ की थोडा समय निकल जाए.

फिर उसने मुझे अन्दर बैठने के लिए कहा और पानी लेने चली गई. फिर पानी ले के हम डाटें करने लगे.

 

loading...

और मैंने उसको पूछा की आप की फेमली कहा हैं? उसने बोला की उसके पति और बच्चे युएसए में रहते हैं वो भी गयी थी लेकिन वहां एडजस्ट नहीं हो पाई इसलिए वापस इंडिया आ गई.

 

वो वहां बीमार हो जाती थी इसलिए उसने वापस इंडिया आना ही उचित समझा. एक दो साल में उसकी फेमली के सब लोग यहाँ आते हैं या वो खुद छुट्टी ले के वहाँ सब के साथ रहने के लिए चली जाती हैं १-२ हफ्ते के लिए.

फिर इधर उधर की बातें करते हुए पूर्वी आंटी ने मुझे अचानक से पूछा की आपकी कोई गर्लफ्रेंड हैं? मैंने बोला की बिजनेश स्टार्ट करने के लिए वो सब चिजों के लिए मुझे वक्त ही नहीं मिला ओ वो हंस के बोली की आप का भी मेरे जैसे ही हैं! मैं बोला की आप के जैसा मतलब?

अब मुझे अन्दर से लग रहा था की मुझे आज इस आंटी के पास से कुछ न कुछ जरुर मिलेगा.

 

और वो बोली मेरे जैसा मतलब. फिर वो चुप हो गई इतना कह के ही.

 

मैंने फ़ोर्स किया बताइए न प्लीज़ तो वो बोली आप एज में मेरे से छोटे हो रहने दो ये सब बातें फिर कभी करेंगे.

 

loading...

फिर भी मैंने बहुत जोर किया तो वो बोली की हम दोनों ही प्यार से दूर हैं, कुछ करने को नहीं मिलता हैं हम दोनों को ही.

 

मैंने पूछा की क्या करने को नहीं मिलता? तो वो बोली सब बताना पड़ेगा क्या आप को! फिर मैंने बोला आप अनुभवी हो तो बताना तो पड़ेगा आप को ही.

 

फिर उसने बोला की आप को भी मेरी तरह रोमांस और सेक्स नहीं मिलता होगा. फिर मैंने बोला की नहीं यार अपना ऐसा नसीब कहाँ हैं की ये सब मिले!

और यह बातें करते करते ही वो मेरे करीब अ के बैठ गई और बातों बातो में मुझे छूने लगी.

 

 

फिर मैंने भी उसको चिपक के बैठना पसंद किया और अचानक मैंने पूछा की आपने कितने टाइम से सेक्स नहीं किया तो उसने बोला की लास्ट में मेरे पति के साथ किया था जब वो डेढ़ साल पहले इंडिया आये थे.

 

मैंने तुरंत पूर्वी आंटी को किस कर लिया और वो पहले धक्के देने लगी फिर भी मैं नहीं रुका और धीरे धीरे वो मुझे रिस्पोंस देने लगी.

करीब १५ मिनिट तक किस करने के बाद वो बोली चलो बेडरूम में चलते हैं.

 

मैं बोला ठीक हैं और फिर उसने बेडरूम की तरफ गाइड किया मुझे. फिर उसने मजाक में पूछा की आप को लेट तो नहीं हो रहा न.

 

मैं बोला की अब तो वो ट्रेन चली गई लेकिन असलीट्रेन पकड ली हैं मैंने.

 

व हंस पड़ी. मैंने कहा आप को भी लंच के बाद जाना हैं. पूर्वी आंटी बोली, मैं जॉब को अपने चूत के नौक पर रखती हूँ.

 

सेलरी सिर्फ नाम की लेती हूँ. मैं पूर्वी आंटी के बूब्स दबाने लगा और वो गर्म हो गई.

 

 

उसने भी बहुत वक्त से सेक्स नहीं किया था इसलिए वो भी एकदम गर्म थी.

 

फिर मैंने उसके कपडे निकाल दिए अब वो सिर्फ ब्रा पेंटी में थी. अब उसने मेरे कपडे भी उतारे और अब हम दोनों पुरे नंगे हो गए.

 

मैं उसके ऊपर आ गया और अपना पेनिस निकाल के पुसी के पास रगड़ना चालू कर दिया वो बोली अब जल्दी डालो न जान मेरे से सहा नहीं जा रहा हैं. फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में दे दिया और उसकी हॉट पुसी एकदम गर्म थी.

एक झटके में पूरा पेनिस उसकी पुसी में दे दिया तो वो भी मेरे से चिपक के बोली, तुम्हारा तो बहुत बड़ा हैं. इसे अन्दर घुसेड के निकालो और मेरी इस प्यासी पुसी को चोद डालो.

फिर हम ५ मिनिट बेड इ सोये और वो मेरा पेनिस पुसी में हिलवा रही थी.

 

मैंने भी कस कस के चोदा पूर्वी आंटी को. मैंने उसे १०-१२ मिनिट तक चोदा और फिर मेरा निकलने को था तो मैंने पूछा की अन्दर निकालूं क्या तो वो बोली नहीं नहीं अन्दर नहीं मेरे मुहं में छोड़ दो.

 

फिर उसनेमेरा पेनिस अपने मुहं में ले लिया.

 

मउसने थोडा ही चूसा था की पूरा वीर्य अंदर छटक पड़ा. वो सब पी गई और मुझे बोली अब मुझे ऊँगली कर के मेरा पानी भी निकाल दो. मैंने उसे ऊँगली से चोद के उसे भी ठंडा कर दिया.

 

वो बहुत खुश हुई और बोली की आज बहुत समय के बाद किसी और ने मेरा पानी निकाला तो बहुत मस्त लगा.

 

मैंने कहा आप मस्टरबेट करती हैं तो वो हंस के बोली, सेक्स टॉयज तो मेरे पास एक दूकान के जितने हैं!

मैंने कहा, मैं जब भी आनंद आऊंगा आप मुझे चोदने देंगी ना?

वो बोली, तुम मेरी पुसी को शांत किये बिना गए तो मार ही डालूंगी तुम्हे.

 

मैंने पूर्वी आंटी को हग कर लिया और वो मुझे स्टेशन तक छोड़ने भी आई.

 

loading...