सेक्सी बहन बदमाश लडको के चुंगल में फस गई

दोस्तों मेरा नाम अविनाश हैं और मैं आज आप लोगों के लिए एक मस्त हिंदी सेक्स कहानी ले के आया हु.

 

loading...

यह कहानी मेरी बहन बबिता की हैं.

 

बबिता के बारे में बता दूँ तो उसका फिगर कुछ ३४-२९-३४ का हैं. वो कोलेज में हैं और बड़े बूब्स और गांड के बहुत चाहनेवालों से घिरी रहती हैं वो हमेशा. उसका रंग साफ़ हैं और वो कोलेज की एक्स्ट्रा करीक्युलर एक्टिविटी में सब से बढ़ चढ़ के हिस्सा लेती हैं.

 

और यह कहानी भी ऐसी ही कुछ पृष्ठभूमि के ऊपर आधारित हैं. मेरी सेक्सी बहन और उसके ग्रुप ने एक ग्रुप-प्ले लिया हुआ था और वो लोगो का रिहर्सल देखने के लिए मैं भी जाता था.

हलकी बारिश में रिहर्सल नहीं हुई

उस दिन हलकी हलकी सी बारिश हुई थी. बिन मौसम की बरसात से यातायात थोड़ी अफेक्ट हुई थी और जमीन से मीठी सी खुसबू भी आ रही थी. मेरा कोलेज बहन की कोलेज के जिमखाना से नजदीक ही था और मैं रिहर्सल के वक्त वहां पहुँच गया.

 

लेकिन रोज की तरह आज कोई चहल पहन नहीं थी.

loading...

 

बहार कुछ लड़के बास्केटबाल खेलते हैं वो भी आज नहीं थे. लेकिन मैदान पर कीचड़ तितर बितर था जिसका मतलब वो अभी खेल के गए थे बरसात होने के बाद में. मैं जब रिहर्सल वाले कमरे के पास गया तो मैंने वहां अपनी दीदी के एक क्लासमेट रवी को देखा. मुझे देख के वो थोडा सा घबरा सा गया.

मैंने पूछा, दीदी कहा हैं और आप लोग आज रिहर्स नहीं कर रहे हो?

तो उसने कहा, बबिता तो चली गई अपनी सहेली के साथ. आज बरसात की वजह से आधा ग्रुप आ नहीं सका इसलिए हम लोगों ने रिहर्स नहीं किया.

मैंने कहा, ठीक हैं मैं भी चलता हु.

 

यह कह के मैं भी वहां से जाने के लिए निकल पड़ा. लेकिन तभी चलते हुए मेरी नजर मेरी दीदी की बेग पर पड़ी जो मेकअप रूम के बहार ही पड़ी हुई थी.

 

मैंने रवी से तो कुछ नहीं कहा लेकिन मैं समझ गया की दाल में कुछ काला जरुर हैं, और वैसे भी मैंने अपनी सेक्सी बहन के बारेम में कुछ गन्दी बातें तो सुनी ही थी.

 

loading...

मैंने सोचा की चलो देखता हूँ. मैं जिमखाना के पीछेव वाले हिस्से में चला गया. अभी भी बारिश की बुँदे गिर रही थी. मैंने मेकअप वाले कमरे के पास खड़े हो के खिड़की से अन्दर देखा तो चमक गया. वहां लाईट नहीं थी इसलिए एकदम अँधेरा सा था.

 

लेकिन मैंने देखा की इन लोगों ने एक मोबाइल में टोर्च एप्प ओन कर रखा था जिस से कुछ उजाला था मिडल में. मेरी दीदी की आँखों पर पट्टी बंधी हुई थी और उसके मुहं के आगे ५ लंड थे. जी हां, पांच पांच लंड चुसाए जा रहे थे मेरी बहन को.

क्या चुदवाया मेरी सेक्सी बहन ने

यह लौंडे वही बास्केटबाल वाले थे, और सब के सब एकदम मवाली जैसे थे. किसी ने कान में बाली पहनी थी तो किसी ने अपने लम्बे बालों में रिंग डाल के रखा हुआ था.

 

दीदी के सामने सब लंड की औसतन लम्बाई ७ इंच तो थी ही. और मेरी सेक्सी बहन सब के सब लंड को अपने मुहं और हाथ से टर्न बाय टर्न चूस और हिला रही थी.

 

साली मेरी सेक्सी बहन आज कैसे चुंगल में फंसी हुई थी. और मैं यह कह रहा हूँ की वो फंसी हुई थी क्यूंकि इतने बड़े लोड़ो से मुहं चुदवा के वो खुश नहीं लग रही थी. ऊपर से उसकी आँखे भी बंध कर दी गई थी इसलिए उसे अंदाजा लगा के ही हाथ हिला हिला के लंड ढूंढने पड़ रहे थे.

 

फिर कान में बाली वाले लड़के ने मेरी इस सेक्सी बहन को खड़ा किया और दिवार पकडवा के खड़ा कर दिया.

loading...

 

 

फिर उसने उसकी गांड खोली और चूत की दरार के ऊपर थूंक दिया उसने.

 

दीदी ने दिवार के ऊपर दोनों हाथ फैला दिए और यह दढ़ियल ने अपना लंड पकड़ के दीदी की गांड पर मारा.

 

लंड से गांड को थपथपाने के बाद वो दीदी के कान के पास अपने होंठो को ले गया.

 

पता नहीं उसने क्या कहा दीदी को लेकिन उसके कुछ कहते ही दीदी ने अपने हाथ निचे कर के अपने दोनों कुल्हे खोले. अब उसने अपना लोडा चूत की दरार पर रख के अन्दर पेल दिया.

दीदी की चीख आराम से सुनाई दे गई मुझे क्यूंकि वो एकदम जोर से ही चीखी थी. दीदी ने इस लौंडे से कहा, अबे भोसड़ी के इतनी जल्दी क्यूँ डाल देता हैं अन्दर हरामी बेन्चोद, साले चूत हैं कोई पुसीटॉय नहीं हैं.

इस बन्दे ने दीदी के बाल पकड़ के कहा, साली रंडी एक तो लंड लेने के पैसे लेती हैं और जबान चलाती हैं साली मादरछोड़, चल अपनी गांड हिला और चुदवा मेरे से. ऊपर से तेरा दलाल वो हरामी रवी भी बहुत पैसे ले गया हैं हम से.

 

आज तो तेरी बुर का बोम्बे बना के छोड़ेंगे हम सब.

 

मेरी सेक्सी बहन बोली, आ जाओ सालो बहुत लंड देखे हैं मैंने भी. आँखों पर तो पट्टी हैं मेरे लेकिन मेरी चूत तुम सब को थका देंगी.

 

और सच में ऐसा ही हुआ. मैंने देखा की इस लड़के ने अपनी गांड हिला हिला के दीदी को चोदा और उसे थकाने की बहुत कोशिश की.

 

लेकिन मेरी दीदी तो कस के उसकी चूत को दबा रही थी और लंड के ऊपर जैसे अपनी भोसड़ी को मार रही थी.

 

कुछ देर में यह लौंडा थक सा गया और उसने फट से लंड चूत से निकाला. दीदी की गांड अपर पिचकारी लगी तभी उसके लंड से.

 

मेरी सेक्सी बहन ने पीछे मुड के कहा, क्या हुआ बे तू तो बहुत चोदु बनता था. देख मेरा पानी नहीं निकला और तूने मूत दिया.

 

उस बन्दे ने दमेरी सेक्सी बहन से कहा, हां साली तुझे रंडीपन में लाइफटाइम अचीवमेंट मिलेंगा साली खानदानी रांड.

 

दोस्तों मेरी सेक्सी बहन की चुदाई का सिलसिला वहाँ नहीं थमा, उसके बाद बाकी के चारो लड़को ने दीदी की चूत पेली.

 

और मेरी सेक्सी बहन ने सच में इन सब को थका सा दिया.

 

मुझे तो पहले इन्हें देख के लगा था की मेरी सेक्सी बहन बदमाशो के चुंगल में फंसी हैं.

 

लेकिन बाद में मुझे पता चला की दीदी सच में बड़ी रंडी हैं!

loading...