अहमदाबाद की अकेली आंटी के साथ सेक्स कीया..

हाय फ्रेंड्स.
में सिध्धार्थ  आपको अपनी एक सच्ची स्टोरी बता रहा हू….उम्र है 37-38  साल में मध्यप्रदेस से हूँ और मुझे काम से अक्सर बाहर जाना पड़ता है और ज्यादातर गुजरात के अहमदाबाद जाता हूँ और मेरी लम्बाई 5”9 है और वजन 70 किलोग्राम है और में दिखने में सुन्दर हूँ, हिंदी,इंग्लिश और गुजराती बोल लेता हूँ अब में स्टोरी पर आता हूँ|

पिछले महीने जब में टूर पर था ओर ऐसे ही होटल मे टाइम पास कर रहा था तो मेरा सेल फोन रिंग दे रहा था मैने देखा तो कोई प्राइवेट नंबर था जैसे ही मैने कॉल रिसिव किया ओर हेलो कहा तो एक मस्त सुरीली आवाज आई क्या तुम सिध्धार्थ हो मैने कहा हाँ क्या में आपको जान सकता हूँ? उसने कहा में मिसिज शाह बोल रही हूँ मैने कहा कही ये मेडमजी में आपकी क्या सेवा कर सकता हूँ.

loading...

उसने कहा जी में आपसे दोस्ती करना चाहती हूँ मैने कहा वेलकम तो उसने बताया की वो अहमदाबाद की रहने वाली है ओर फिर हमारी बात चालू हो गयी बस परिचय हुआ उसने कहा में आपको रात मे कॉल करती हूँ ओके बाय करके फ़ोन रख दिया…

रात को में फोन का वेट कर रहा था तो उसकी कॉल आ गयी ओर उसने मुझे आने का इन्विटेशन दे दिया मैने कहा चलो यार ओर एक फ्रेंड मिल गयी जब हमने टाइम ओर तारीख फिक्स किया जब में अहमदाबाद गया तो वो कालूपुर स्टेशन पर मेरा इन्त्जत कर रही थी मैने उसे कॉल किया तो उसने कहा एस.बी.आई के ए.टी.एम के पास आ जाना और हमने अपने ड्रेस कोड बता दिए जैसे ही में वहा गया उसने मुझे पहचान लिया और पूछा सिध्धार्थ?

मैने कहा हाँ यार क्या मस्त फाडू लेडी थी उम्र 45 साल, बहुत ही सेक्सी रेड साड़ी में मस्त लग रहीथी..  ब्लेक मेचिंग ब्लाउज मेरा तो वही खड़ा हो गया सिध्धार्थ तुमने बहुत देर लगा दी में आधे घंटे से यहाँ इंतजार  कर रही हूँ मैने कहा गाड़ी लेट हो गयी ना इसलिये अच्छा ओके चलो हम कॉफी पीते है|

ओके फिर हमने स्टेशन के पास ही एक होटल मे कॉफी पी उस दोरान वो मुझे अच्छी  तरह से चेक कर रही थी फिर मैने कहा कहो मेडम क्या इरादा है उसने सिर्फ़ एक स्माइल दी और कहा चलो चलते है फिर उसने एक ऑटो बुक किया ओर हम चल पड़े.
मैने धीरे से पूछा कहा ले जा रही हो तो उसने कहा अपने घर

फिर करीब 30 मिनिट के बाद एक कॉंमप्लेक्स के पास उतर गये ओर उस कॉंमप्लेक्स मे उसका चोथे फ्लोर पर फ्लेट था |

उसने चाबी से डोर खोला मैने देखा वो एक बहुत शानदार फ्लेट था उसने मुझे सोफे पर बिठाया और अंदर चली गयी फिर उसने मुझे पानी दिया और कहा तुम बेठो में अभी कुछ खाने को  लाती हूँ आप आराम से टी.वी देखे मैने पूछा मेडम घर पर आप अकेली हो हाँ में अकेली ही हूँ पति टूर पर गये है इसलिये तो तुम्हे बुलाया है |

और कह कर स्माइल देती हुई अंदर चली गयी करीब 25 मिनिट के बाद वो आ गई वाउ क्या नज़ारा था अब वो एक बहुत ही पतली सी नाइटी गाउन मे थी और उसने स्नॅक्स ओर चाय सामने टेबल पर रख दी और मुझसे एकदम चिपक कर बैठ गयी.
फिर इधर उधर की बाते की जैसे जैसे वो मुझसे ज्यादा चिपक कर बैठ रही थी में समझ गया अब में भी अपना हाथ उसके पीछे से ले गया तो उसने मेरी तरफ अपना सिर घुमाया मैने उसके गुलाबी होंठो पर अपने होंठ रख दिए उसने भी मेरा साथ दिया और हम दोनो एक दूसरे के होंठ चूसे जा रहे थी करीब 5-7 मिनिट तक हम लिप किस करते रहे.

जब अलग हुए तो दोनो की साँसे गर्म और तेज चल रही थी मे उसे चूमते हुए उसके गले को चाटना चालू किया वो भी मुझसे अच्छी तरह से मुझसे चटवा रही थी फिर में उसके बूब्स को प्रेस कर रहा था |

loading...

वो मस्त हो रही थी फिर में पेट और कमर पर आ गया फिर मेने गाउन के उपर से ही उसकी चूत पर अपना मुँह लगा दिया और होंठो से चूत सहलाने की कोशिश करने लगा उसने मुझे रोका बोली बेडरूम मे चलो वो एक बड़ा शानदार बेडरूम था.

कुछ देर मे टाइट लंड के साथ खड़ा रहा और हम किस करने लगेवो सेक्सी अदा के साथ लेट गई और मुझे नशीली निगाहों से देखती हुई मुस्कुरा रही थी |

मेने झुक कर उसके पेर पर हाथ रखना चाहा तब वो एकदम बिस्तर पर पलटी मार गई और बिस्तर के किनारे पर पेट के बल लेट कर पेर मोड़ कर गांड उपर उठा कर मुझे ललचाने लगी वो कुछ देर खेलने के मूड मे थी|

मेने फिर झुककर उसके पेर का अंगूठा अपने होंठो मे दबाया कुछ देर बाद उससे सहन नही हुआ तो उसने पेर उपर खीच लिया मे बिस्तर के बाहर ही खड़ा था अब वो बिस्तर पर कुछ और उपर आ कर आधी लेट गई और मादक अदा से उसने अपने दोनो पेर फेलाये और धीरे धीरे साड़ी उपर करने लगी.

मे खड़ा यह देख रहा था वो अपने होंठों पर जीभ फेर रही थी और नीचे से गांड उपर उठा उठा कर मुझे और मेरे लंड को ललचा रही थी. उसने अपनी जांघों तक नाइटी उपर की और एक हाथ अंदर डाल कर अपनी चूत मसलने लगी और दूसरे हाथ से अपने बूब्स दबाने लगी वो बहुत ही बिंदास तरीके से चुदना चाहती थी|

मे भी मास्टर हूँ बिंदास तरीके से चोदना जानता हूँ मेने भी अपना काम शुरू किया मे बिस्तर पर चड गया और घुटनो  के बल किसी जानवर की तरह चलते हुए उसके पैर को चाटने लगा पैर से होते हुए जांघो को चाटते हुए उसकी चूत को अपने मुँह मे भर लिया वो चीख पड़ी वो फिर बिस्तर पर पलट गई अब उसकी गांड मेरे सामने थी मेने फिर नीचे से चूमना शुरू किया |

और उसकी गड्राई जांघों को खूब सहलाया खूब चाटा और नाइटी उपर कर दी गांड देख कर तो मे धन्य हो गया मस्त गोरी बड़ी गांड थी दोस्तो मेने पूरी गांड पर जीभ फेरी बहुत सहलाया उसके मुँह से आवाज़ें निकलने लगी वो अभी भी पेट के बल बिस्तर पर लेटी थी मे उसके उपर था.

फिर मेने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और उसकी पेंटी भी निकाल दी जो गीली हो चुकी थी अब मे नंगा ही उसके उपर आ गया अपना लंड उसकी मस्त गांड से खूब रगड़ा |

और अपने होंठो मे उसके कान चबाता रहा जिस कारण वो बहुत चिल्लाने लगी चीखने लगी ये चीख उससे आ रहे मज़े के कारण उसके मुँह से निकल रही थी अब वो सीधी लेट गई और बेठ कर मेरा लंड देख कर लपक कर|

अपने हाथ मे ले लिया मेरा लंड देख कर उसकी आँखों मे चमक आ गई  उसने मुझे एक धक्का दिया जिससे मे बिस्तर पर सीधा गिर गया वो मेरा लंड अभी भी पकड़े हुए थी अब वो मेरे लंड के उपर झुक गई और मेरा पूरा लंड अपने मुँह मे ले लिया करीब 10  मिनिट तक चूसने के बाद वो मेरे उपर लेट गई और मुझे चूमने लगी मेने उसे अपनी बाहोंमे भर कर पलटी मारी और मे अब उसके उपर आ गया उसको चूमते हुए मेने अब उसके कपड़े निकालना शुरू किया.

loading...

कुछ ही देर मे अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी लेटी हुई थी कयामत थी मेने नीचे से उपर तक उसे चूमा उसने भी पूरे जोश के साथ मेरा साथ दिया हम दोनो इतने उत्तेजित हो चुके थे की पूरे बिस्तर पर एक दूसरे से नाग- नागिन की तरह लिपट रहे थे|

और यहाँ वहा पलटी मार रहे थे कभी मे उसके उपर कभी वो मेरे उपर दोनो भूखे शेर की तरह एक दूसरे को खा जाने के लिए बेताब थे अब वो बोली बस सिध्धार्थ और मत तड़पाओ प्लीज डाल डो अंदर और ये कहते हुए|

उसने बेरहमी से मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत मे बहुत ज़ोर से रग़ड दिया मे दर्द से कराह उठा मेरे लंड के साथ साथ मेरी बोल भी उसकी मुठी मे आ गये थे मेने उसके हाथ से अपना लंड छुड़ाया और उसके दोनो पेर अपने दोनो हाथों से पकड़ कर उसके सर की तरफ मोड़ दिए.

फिर नीचे से उसकी गांड उपर उठ गई मे घुटनो के बल बेठा था मेने अपनी जांघों पर उसकी गांड रख कर अपने लंड की सीध मे उसकी चूत लाकर उसकी चूत मे अपना लंड घुसेड दिया एक ही झटके मे पूरा अंदर कर दियावो चीख पड़ी और उसकी आँखे बंद थी और उसने अपने दोनो हांथो से मेरे कन्धे पकड़ रखे थे लंड अंदर जाते ही उसके नाख़ून मेरी बाहों पर गड़ गये मेरी बाहों से खून निकलने लगा |

मेने परवाह नही की और अपनी स्पीड बड़ा दी 15 मिनिट तक एक ही स्पीड मे उसे चोदता रहा उसे कुछ परेशानी होने लगी उसने मुझे रुकने को बोला मे रुक गया और अपने पेर मेरे हाथों से छुड़ा कर सीधे कर लिए पेर सीधे होते ही उसे कुछ राहत मिली कुछ देर रुक कर उसने थोड़ा उपर उठ कर मेरी गर्दन अपने दोनो हाथों से पकड़ ली और एक ही झटके से उठ कर मेरी गोद मे बेठ गई मेरा लंड अभी भी उसकी चूत मे था.

उसने मुझे पीछे की तरफ धक्का दिया मे लेट गया अब वो मेरे उपर थी अब वो मुझे चोद रही थी में बहुत ज़ोर ज़ोर से अपनी कमर आगे पीछे कर रहा था की आचनक उसकी रफ़्तार बड  गई उसके मुँह से चीख निकल रही थी और ज़ोर ज़ोर से कमर हिलाते हुए वो पागलो की तरह चिल्लाने लगी और कमर ज़ोर ज़ोर से हिलाती रही और एक जोरदार झटके के साथ|

वो चिल्ला पड़ी और एकदम रुक गई और कुछ देर बाद वो मेरे उपर गिर गई उसकी साँसे बहुत तेज़ चल रही थी मेरे लंड की हालत तो खराब हो ही गई थी |

मेने प्यार से उसके सिर पर हाथ फेरा उसे चूमा वो बिल्कुल आराम की तरह मेरे उपर 15 मिनिट तक पड़ी रही फिर वो सामान्य हुई तो अपने हाथों के सहारे थोड़ा उपर उठी उसके चहरे पर गजब की खुशी थी मुस्कुरा रही थी वो मुझे उसने प्यार से चूमा पर मेरी आग अभी शांत होना बाकी थी.

मेरा लंड खम्बे की तरह उसकी चूत के अंदर अभी भी आग उगल रहा था पर वो एकदम खड़ी हो गई उसकी चूत का बहुत सारा पानी मेरे लंड के ऊपर फेल गया था |

मे उसके दोनो पैर के बीच मे पड़ा था फिर वो बिस्तर से नीचे आ गई और बाथरूम चली गई मे ऐसे ही पड़ा रहा बाथरूम से आकर उसने अपनी नाइटी मेरा लंड और आस पास की जगह साफ, फिर मे भी उठ कर बेठ गया और हम दोनो चिपक कर खड़े थे .

loading...

वह मेरे सीने पर हाथ रखाफिर मेरे सीने को चूमते हुए अपना सर रख कर चिपक कर खड़ी हो गई मेने भी उसे प्यार किया और बाहों मे भर कर खड़ा रहा जब मैने उससे एक बात पूछी मेडम आपको मेंरा नंबर कहा से मिला.

उसने कहा उसकी एक दोस्त ने दिया है और उसने  फेसबुक  पर से लिया है, तो मेडम आपने मेरा नंबर अपने मोबाइल मे सेव किया है इससे आपको प्रोब्लम हो सकती है उसने मुझे बताया की नबर मुझे मुझे तुम्हार नबर यद् हैं,|

में थैंक्स कह कर उसको एक डीप किस किया अब हमारी गर्मी कुछ कम हुई तो हम लोग फिर बिस्तर पर आ गये अब तक वो फिर चुदने के लिए तैयार हो गई थी|

मेने इस बार उसे डोगी की तरह होने को कहा उसने तुरन्त अपनी गांड मेरी तरफ कर दी  फिर उसने नीचे से हाथ डाल कर मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत मे डाल लिया मेने भी उसे चोदना शुरू किया |

फिर अपनी स्पीड बड़ाई और इतनी बड़ाई की पूरा पलंग आवाज़ करने लगा वो  चिल्लाने लगी पर मे कहाँ मानने वाला था बहुत देर से कंट्रोल किए हुए था|

अच्छी तरह से चोदता रहा उसकी बड़ी गांड जो मेरे सामने थी जिसे देख कर और जोश आ रहा था वो बोली प्लीज़ अब छोड़ दो प्लीज़ क्या जान ही निकाल दोगे मेरी प्लीज़ मेने कहाँ ठीक है|

और अपनी फुल स्पीड से धक्के मार मार कर उसकी चूत मे अपना पानी छोड़ दिया कुछ देर बाद हम उठे और बाथरूम से आकर अपने अपने कपड़े पहने वो बहुत खुश थी वो बोली आज पहली बार मुझे इतना मज़ा आया.

मे तुम्हे कभी नहीभूल पाऊँगी मेने उसका माथा चूमा उसने बताया की मेरे पति बिज़नस करते है |

ओर मुझे ज़्यादा टाइम नही दे सकते मे घर पर अकेली रहती हूँ |

बहुत उदास थी बहुत दिनो से सेक्स की आग मे जल रही थी जब फ्रेंड्स के साथ बात शेयर की तो उसने मुझे तुम्हारा नंबर दिया, |

और आज में तुमसे चुद कर बहा खुश हु,

मेने पुछा मेम आप खुश तो होना तो उसने कहा बहुत खुश हूँ सिध्धार्थ अब हम फ्रेंड्स हो गये हे.  और जब भी अहमदाबाद आता तो जैम कर चुदा-चूदी होती थी..

loading...